ताज़ा खबर
 

डेटा तेल नहीं है, इसे उत्‍पाद मत समझें- रिलायंस के मुकेश अंबानी को फेसबुक के निक क्‍लेग ने दिया जवाब

फेसबुक के उपाध्यक्ष निक क्लेग ने बृहस्पतिवार को कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से डेटा साझा करना अहम है। गंभीर अपराध और आतंकवाद पर शिकंजा कसने के बीच भारत खुद को प्रमुख वैश्विक डेटा - साझाकरण पहलों से बाहर रखता है।

Author नई दिल्ली | September 13, 2019 1:30 PM
mukesh ambaniमुकेश अंबानी। (फाइल फोटो)

फेसबुक इंक ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी को जवाब देते हुए कहा कि डेटा कोई नया तेल नहीं है। भारत जैसे देशों को डेटा को देश में ही रोकने के बजाय इसके दूसरे देशों में मुक्त प्रवाह की अनुमति देनी चाहिए। फेसबुक के उपाध्यक्ष (विदेश मामले एवं संचार) निक क्लेग ने बृहस्पतिवार को कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से डेटा साझा करना अहम है। गंभीर अपराध और आतंकवाद पर शिकंजा कसने के बीच भारत खुद को प्रमुख वैश्विक डेटा – साझाकरण पहलों से बाहर रखता है।

निक क्लेग ने कहा “भारत को इंटरनेट के लिए एक नया खाका तैयार करना चाहिए जो व्यक्तिगत अधिकारों का सम्मान करता हो। साथ ही प्रतिस्पर्धा और नवाचार को प्रोत्साहित करे और सभी के लिए मुक्त और आसानी से उपलब्ध हो। “रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कुछ समय पहले कहा था कि डेटा एक नए तेल की तरह है। भारतीय डेटा का नियंत्रण और स्वामित्व भारतीय लोगों के पास होना चाहिए , डेटा कंपनियों या विशेष रूप से विदेशी कंपनियों के पास नहीं।

क्लेग ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, “भारत और पूरी दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो डेटा को नया तेल समझते हैं और उनका मानना है कि इस तरह के तेल (डेटा) के भंडार को देश की सीमा के भीतर रखने से समृद्धि आएगी। हालांकि, यह मानना सरासर गलत है। “उन्होंने कहा, “डेटा कोई तेल नहीं है। जिसे जमीन से निकाल कर उसका नियंत्रण अपने हाथ में रखा जाए और उसका कारोबार किया जाए। यह नवाचार के विशाल समुद्र के रूप में है। “क्लेग ने कहा कि डेटा का मूल्य “जमाखोरी” या फिर सीमित वस्तु की तरह इसका कारोबार नहीं से नहीं प्राप्त होता है बल्कि डेटा के मुक्त प्रवाह की अनुमति दी जानी चाहिए। यह नवाचार को बढ़ावा देता है। क्लेग ने कहा कि डेटा को देश के सीमा के बांधकर रखने और दूसरे देश में उसके प्रवाह को रोकने से ” यह नवाचार रूपी विशाल समुद्र को झील में बदल देगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ऑटो हब पुणे में इंजीनियर बेचते हैं पान, अधिकांश सीवी लेकर कंपनियों के लगाते हैं चक्कर
2 1200 अफसरों ने किया 470 करोड़ के GST घोटाले का भांडाफोड़, 3500 करोड़ के फर्जी इनवॉइस भी मिले
3 10 महीने के उच्चतम स्तर पर खुदरा महंगाई दर, मांस-मछली, सब्जी-दाल से बढ़ी महंगाई
यह पढ़ा क्या?
X