ताज़ा खबर
 

सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर के दाम घटे, बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर भी सस्‍ता

घरेलू रसोई गैस के सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत बृहस्पतिवार को 1.46 रुपये सस्ती हो गई। जबकि बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम 30 रुपये घटा है।

Author Updated: February 1, 2019 10:21 AM
घरेलू रसोई गैस के सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत बृहस्पतिवार को 1.46 रुपये सस्ती हो गई।

घरेलू रसोई गैस के सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत बृहस्पतिवार को 1.46 रुपये सस्ती हो गई। जबकि बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर का दाम 30 रुपये घटा है। सरकारी पेट्रोलियम ईंधन वितरण कंपनियों ने रसोईं गैस सिलेंडर के दाम में एक माह में लगातार तीसरी बार कमी की है। इसकी मुख्य वजह इस ईंधन पर कर का भार कम होना है। देश की सबसे बड़ी रसोई गैस कंपनी इंडियन ऑयल ने एक बयान में कहा कि बृहस्पतिवार की मध्यरात्रि से दिल्ली में सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम के गैस सिलेंडर की कीमत 493.53 रुपये होगी जो अभी 494.99 रुपये है। इसी तरह बिना सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर की कीमत भी 30 रुपये घटकर अब 659 रुपये प्रति सिलेंडर की गयी है।

इससे पहले एक दिसंबर को सब्सिडी वाले सिलेंडर पर 6.52 रुपये और एक जनवरी को 5.91 रुपये की कटौती की गई थी। एलपीजी के दामों में कमी की अहम वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत घटना और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की स्थिति में सुधार होना है। एलपीजी ग्राहकों को सिलेंडर बाजार कीमत पर लेने होते हैं।

सरकार एक उपभोक्ता को साल में अधिकतम 12 सिलेंडर पर सब्सिडी देती है। सब्सिडी हर महीने अलग-अलग हो सकती है जो विदेशी मुद्रा विनिमय और अंतरराष्ट्रीय बाजार में एलपीजी की कीमतों के औसत के अनुसार तय की जाती है। इस कटौती के बाद सब्सिडी वाले सिलेंडरों के ग्राहकों को उनके खाते में फरवरी में 165.47 रुपये प्रति सिलेंडर की दर से सब्सिडी मिलेगी। जनवरी में यह राशि 194.01 रुपये थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Interim Budget 2019 Updates: मोदी सरकर ने खोला पिटारा, अब 5 लाख तक की आय पर टैक्‍स नहीं
2 Union Budget 2019: पीयूष गोयल ने पेश किया मोदी सरकार का आखिरी बजट, टिकी रही सबकी निगाहें
3 Interim Budget 2019 Income Tax Slab Updates: किसानों को तीन किस्‍तों में सीधे खाते में पैसा, इनकम टैक्‍स की सीमा हुई 5 लाख
ये पढ़ा क्या?
X