ताज़ा खबर
 

EPFO को इक्विटी मार्केट में निवेश पर लगातार हो रहा नुकसान, संसदीय पैनल ने उठाए इन्वेस्टमेंट पर सवाल

एंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन की ओर से लगातार इक्विटी मार्केट में निवेश किए जाने पर संसदीय पैनल ने सवाल उठाए हैं। संसदीय पैनल ने कहा है कि मार्च-अप्रैल के बाद से ही मार्केट में गिरावट की स्थिति है। ऐसे में इसमें निवेश करने की क्या जरूरत है।

employee provident fundकर्मचारी भविष्य निधि संगठन के इक्विटी मार्केट में निवेश पर संसदीय पैनल की टिप्पणी

एंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन की ओर से लगातार इक्विटी मार्केट में निवेश किए जाने पर संसदीय पैनल ने सवाल उठाए हैं। संसदीय पैनल ने कहा है कि मार्च-अप्रैल के बाद से ही मार्केट में गिरावट की स्थिति है। ऐसे में इसमें निवेश करने की क्या जरूरत है। यही नहीं संसदीय पैनल ने सवाल किया कि आखिर कौन इस संदर्भ में फैसले लेता है? किसे इस फैसले के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है? बीजेडी सांसद भर्तृहरि महताब के नेतृत्व वाली संसदीय समिति ने कहा कि हमें इन सवालों के जवाब में लिखित में दीजिए। बुधवार को श्रम मंत्रालय के सीनियर अधिकारियों और ईपीएफओ के अफसरों के साथ मीटिंग में संसदीय पैनल ने यह सवाल उठाया।

ईपीएफओ को एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स में 1.03 लाख करोड़ रुपये के निवेश पर 31 मार्च, 2020 तक माइनस 8.29 पर्सेंट रिटर्न हासिल हुआ है। ईपीएफओ की एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स में अगस्त 2015 से ही निवेश किया जा रहा है। शुरुआत में ईपीएफओ ने अपनी निवेश की कुल निधि में से 5 पर्सेंट की रकम स्टॉक मार्केट में लगाई थी। इसके बाद ईपीएफओ की ओर से 2016-17 में इसे 10 पर्सेंट कर दिया गया था और फिर 2017-18 में यह आंकड़ा 15 फीसदी हो गया था।

संसदीय स्थायी समिति ने सरकार से EPFO ​​द्वारा संचालित कर्मचारी पेंशन योजना, 1995 के तहत मासिक न्यूनतम पेंशन बढ़ाने पर भी निर्णय लेने को कहा। समिति का कहना है कि ईपीएफओ के सीबीटी ने अगस्त 2019 में मासिक न्यूनतम पेंशन को बढ़ाकर 2,000 रुपये से लेकर 3,000 रुपये तक करने की सिफारिश की थी। लेकिन, एक साल बाद भी सरकार की ओर से अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। हमने उन्हें फैसला जल्द लेने के लिए कहा है।

बता दें कि ईपीएफओ को इक्विटी मार्केट में नुकसान के चलते पीएफ खाताधारकों को ब्याज देने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसी के चलते ईपीएफओ ने 2019-20 के ब्याज को दो किस्तों में जारी करने की बात कही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मुकेश अंबानी से डील के फ्यूचर पर संकट? किशोर बियानी के खिलाफ जेफ बेजोस के मुकदमे पर शुरू हुई सुनवाई
2 मुकेश अंबानी ने बताया भारत की ग्रोथ का आइडिया, जानिए- क्या है देश के सबसे अमीर शख्स की सलाह
3 खत्म नहीं हुई रिटेल किंग किशोर बियानी की पारी! भतीजे के जरिए फिर रिटेल सेक्टर में कर सकते हैं वापसी
यह पढ़ा क्या?
X