डीजल-पेट्रोल के आसमानी भाव से टाटा और महिंद्रा समेत इन कंपनियों को हो रहा डायरेक्ट फायदा

डीजल और पेट्रोल के दाम साढ़े पांच महीने में 15 रुपये तक बढ़ चुके हैं। इनके दाम में कमी आने के कोई संकेत नहीं हैं। ऐसे में लोग इलेक्ट्रिक कारें खरीदना अधिक पसंद कर रहे हैं।

Diesel Petrol Price in Delhi
डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ने से ई-कार कंपनियों को फायदा हो रहा है। (Express Photo: Kamleshwar Singh)

डीजल और पेट्रोल की कीमतें (Diesel Petrol Prices) लगातार बढ़ रही हैं। रविवार (17 अक्टूबर) को लगातार चौथे दिन डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़े। सिर्फ इसी महीने डीजल 5.60 रुपये और पेट्रोल 4.30 रुपये महंगा हो चुका है। इसका सीधा फायदा टाटा (Tata) और महिंद्रा (Mahindra) जैसी इलेक्ट्रिक कार (E Car) बनाने वाली कंपनियों को हो रहा है। इलेक्ट्रिक बाइक (E Bike) समेत सभी इलेक्ट्रिक वाहनों (E Vehicle) की मांग में तेजी आ रही है।

साढ़े पांच महीने में डीजल-पेट्रोल 15 रुपये महंगा

दाम बढ़ाए जाने के बाद दिल्ली में अब पेट्रोल 105.84 रुपये और डीजल 94.57 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। मुंबई में डीजल भी सौ को पार कर चुका है। फाइनेंशियल कैपिटल में पेट्रोल 111.77 रुपये पर और डीजल 102.52 रुपये पर पहुंच चुका है। तीन सप्ताह कीमतें स्थिर रखने के बाद तेल विपणन कंपनियों ने सितंबर से फिर दाम बढ़ाना शुरू किया है। इसके बाद पेट्रोल 16 बार और डीजल 19 बार महंगा हो चुका है। तीन सप्ताह के विराम से पहले चार मई और 17 जुलाई के बीच पेट्रोल 11.44 रुपये और डीजल 9.14 रुपये महंगा हुआ था। इस तरह देखें तो साढ़े पांच महीने में पेट्रोल 15.74 रुपये और डीजल 14.74 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है।

इलेक्ट्रिक कारों को हो रहा फायदा

एचएसबीसी ग्लोबल रिसर्च (HSBC Global Research) की एक ताजा रिपोर्ट बताती है कि डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ने का सीधा फायदा इलेक्ट्रिक कार कंपनियों (Electric Car Companies) को हो रहा है। डीजल और पेट्रोल लगातार महंगा हो रहा है। हाल फिलहाल इनके दाम कम होने के कोई आसार नहीं हैं। ऐसे में ग्राहकों का इंटरेस्ट वैसी कारें खरीदने में है, जो कम खर्चे में चलती हो। इलेक्ट्रिक कारों को इस बात का फायदा हो रहा है।

ये कंपनियां उठा रहीं लाभ

इलेक्ट्रिक कारों के बाजार को देखें तो टाटा मोटर्स (Tata Motors) करीब 70 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ पहले पायदान पर है। अभी कंपनी इस सेगमेंट में नेक्सन (Tata Nexon EV) और अल्ट्रोज (Altroz) बेच रही है। महिंद्रा भी इलेक्ट्रिक कारें बेच रही हैं। दोनों कंपनियां कॉमर्शियल ई-व्हीकल (Commercial E Vehicle) सेगमेंट में भी मौजूद हैं। इनके अलावा एमजी मोटर (MG Motor), हुंडई (Hyundai), अशोक लीलैंड (Ashok Leyland), बीवाईडी ओलेक्ट्रा (BYD Olectra) , लोहिया ऑटो (Lohia Auto) जैसी कंपनियां भी ई-व्हीकल सेगमेंट में उतर चुकी हैं।

इसे भी पढ़ें: इस गुजराती ने कचरे से बना दी 200 करोड़ की कंपनी, संवार रहे हजारों कूड़ा बीनने वालों की जिंदगी

तेजी से बढ़ रहा ई-बाइक का भी बाजार

एक रिपोर्ट की मानें तो डीजल और पेट्रोल के बढ़ते दाम से ई-व्हीकल की बिक्री में 30 प्रतिशत तक तेजी आई है। ग्राहकों की इंक्वायरी 300 प्रतिशत तक बढ़ गई है। लोग न सिर्फ कार बल्कि ई-बाइक में भी दिलचस्पी रही है। आज बाजार में इलेक्ट्रिक सेगमेंट में टू-व्हीलर के कई मॉडल उपलब्ध हैं। ओला (Ola) ने भी इसमें अपने कदम उतारे हैं।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट