ताज़ा खबर
 

देश के 8 बुनियादी उद्योगों में लगातार 5वें महीने तेज गिरावट, जुलाई में 9.6 फीसदी कम हो गया उत्पादन

जुलाई में इस्पात का उत्पादन 16.5 प्रतिशत, रिफाइनरी उत्पादों का 13.9 प्रतिशत, सीमेंट का 13.5 प्रतिशत, प्राकृतिक गैस का 10.2 प्रतिशत, कोयले का 5.7 प्रतिशत, कच्चे तेल का 4.9 प्रतिशत और बिजली का 2.3 प्रतिशत नीचे आया है।

manufacturingजुलाई महीने में 8 कोर सेक्टर्स में आई गिरावट

कोरोना से निपटने के लिए लागू हुए लॉकडाउन के कारण देश के 8 बुनियादी उद्योगों में तेज गिरावट दर्ज की गई है। जुलाई महीने में 9.6 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह लगातार पांचवां महीना है, जब बुनियादी उद्योगों का उत्पादन घटा है। इससे पहले अप्रैल-जुलाई तिमाही में यह आंकड़ा -20.5 प्रतिशत है। मुख्य रूप से इस्पात, रिफाइनरी उत्पाद और सीमेंट क्षेत्र के खराब प्रदर्शन की वजह से बुनियादी उद्योगों का उत्पादन घटा है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार जुलाई में उर्वरक को छोड़कर अन्य सातों क्षेत्रों कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, इस्पात, सीमेंट तथा बिजली क्षेत्र के उत्पादन में गिरावट आई है।

जुलाई में इस्पात का उत्पादन 16.5 प्रतिशत, रिफाइनरी उत्पादों का 13.9 प्रतिशत, सीमेंट का 13.5 प्रतिशत, प्राकृतिक गैस का 10.2 प्रतिशत, कोयले का 5.7 प्रतिशत, कच्चे तेल का 4.9 प्रतिशत और बिजली का 2.3 प्रतिशत नीचे आया है। वहीं दूसरी ओर जुलाई में उर्वरक का उत्पादन 6.9 प्रतिशत बढ़ा। जुलाई, 2019 में उर्वरक उत्पादन 1.5 प्रतिशत बढ़ा था। जुलाई, 2019 में आठ बुनियादी उद्योगों उत्पादन 2.6 प्रतिशत बढ़ा था। उर्वरकों के उत्पादन में इजाफे की एक वजह यह है कि देश में फसल की बुवाई का सीजन होने के चलते उर्वरकों की मांग में तेजी देखी गई थी।

इन 8 कोर सेक्टर्स को लेकर यह डाटा ऐसे वक्त में सामने आया है, जब केंद्र और राज्य सरकारें धीरे-धीरे लॉकडाउन में रियायत दे रही हैं। जुलाई महीने में भी पहले की तरह प्रतिबंध लागू नहीं थे, लेकिन आर्थिक सुस्ती के चलते मांग में कमी की स्थिति देखी जा रही है। इसका सीधा असर में उत्पादन में गिरावट के तौर पर दिख रहा है। देश के इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन में इन 8 कोर सेक्टर्स की हिस्सेदारी 40 प्रतिशत के करीब है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अंबानी फैमिली के ही स्कूल में पढ़ी थीं मुकेश अंबानी की बहू श्लोका मेहता, जानें- आकाश अंबानी से कैसे हुई मुलाकात
2 रिटेल के बाद अब बीमा कारोबार भी बेच रहे किशोर बियानी, फ्लिपकार्ट के फाउंडर सचिन बंसल कर सकते हैं अधिग्रहण
3 जानें, अब क्या करेंगे फ्यूचर ग्रुप के किशोर बियानी? मुकेश अंबानी को कारोबार बेच रिटेल बिजनेस से हुए बेदखल
यह पढ़ा क्या?
X