ताज़ा खबर
 

जानें, डिस्काउंट के बाद भी क्यों इन चीजों को खरीदना नहीं है फायदे का सौदा, कोरोना संकट में बचाएं कैश

लॉकडाउन के दौर में कई कंपनियों की ओर से इन दिनों प्री-बुकिंग के ऑफर दिए जा रहे हैं और लग्जरी चीजें भी काफी डिस्काउंट पर मिल रही हैं। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज पर भी काफी ऑफर पेश किए जा रहे हैं।

notesकोरोना के संकट में इन चीजों की खरीददारी से बचें

लॉकडाउन के दौर में कई कंपनियों की ओर से इन दिनों प्री-बुकिंग के ऑफर दिए जा रहे हैं और लग्जरी चीजें भी काफी डिस्काउंट पर मिल रही हैं। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज पर भी काफी ऑफर पेश किए जा रहे हैं। प्री-बुकिंग ऑफर्स के तहत कंपनियां ग्राहकों को गिफ्ट, डिस्काउंट और कैशबैक ऑफर दिए जा रहे हैं। हालांकि इसके बाद भी ऐसी खरीददारी करने की जरूरत है। आइए जानते हैं क्यों…

ऑफर के ऐसे झांसे में न आएं: कंपनियों की ओर से ग्राहकों को प्री-बुकिंग ऑफर दिए जा रहे हैं। इसके तहत आप 2,999 रुपये, 4,999 रुपये जैसे वाउचर दिए जा रहे हैं। आपको ऐसे वाउचर्स को हासिल करने से पहले यह सोचना चाहिए कि इसके बाद भी कुल कितनी कीमत है। इसके अलावा इन ऑफर्स के साथ आपको 90 दिन या फिर 180 दिनों की टाइम लिमिट तय होती है। ऐसे में आपके लिए यह जरूरी हो जाता है कि आप इस मुश्किल वक्त में भी शॉपिंग करें। इसलिए यह जरूरी है कि ऐसे किसी भी प्री-बुकिंग ऑफर को लेने से पहले टाइम लिमिट भी देख लें। आने वाले दिनों में बहुत जल्दी बाजार की स्थितियां सामान्य नहीं होने वाली हैं।

जल्दबाजी में शॉपिंग करने से बचें: नौकरियां जाने और सैलरी कट का यह दौर है। ऐसी स्थिति में आपको कोई भी खर्च करने से पहले भविष्य की आशंकाओं को भी ध्यान में रखना चाहिए। आज किया गया कोई भी खर्च भविष्य में पड़े किसी संकट में और भी बड़ी समस्या का कारण बन सकता है। ऐसे मुश्किल दौर में आपको बेवजह के खर्चों से बचना चाहिए। कैशबैक या फिर डिस्काउंट की योजनाएं कंपनियों की ओर से इसलिए पेश की जा रही हैं क्योंकि वे अपने प्रोडक्ट्स को बेचकर कैश जुटाना चाहती हैं। ऐसे में डिस्काउंट देना कंपनियों की मजबूरी एवं जरूरत है, यह आपके लिए कहीं से भी जरूरी नहीं है। यदि आपको किसी भी चीज की तत्काल जरूरत नहीं है तो कोई भी सामान जल्दबाजी में खरीदने से बचें।

मुसीबत में सामान नहीं, कैश आएगा काम: मार्केट के जानकार कहते हैं कि यह ऐसा समय है, जब आपको अपने पास मौजूद कैश को कहीं भी ब्लॉक नहीं करना चाहिए। आपको अपनी रकम को अपने पास ही रखना चाहिए ताकि किसी भी संकट की स्थिति में वह आपके काम आ सके। खरीदा हुआ सामान सिर्फ उपयोग किय़ा जा सकता है, लेकिन मुश्किल वक्त में मदद नहीं कर सकता।

Coronavirus/COVID-19 और Lockdown से जुड़ी अन्य खबरें जानने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें: Lockdown 4.0 Full Update:  14 दिन के लिए और बढ़ा देश में लॉकडाउन, अब 3 के बजाय 5 होंगे जोन्स; प्लेन-ट्रेन व मेट्रो रहेगी बंद। Lockdown 4.0 Guidelines में किन चीजों को मंजूरी और किन्हें नहीं, देखें डिटेल में। कोरोना, लॉकडाउन की मार: ‘घर पर पड़ी है पति की लाश, बस पहुंचा दो गांव’, दिल्ली में फंसी महिला का दर्द। मजदूरों का मुद्दाः मोदी सरकार पर बरसे RSS से जुड़े संगठन के नेता, बोले- श्रमिकों को मारोगे भी, फिर रोने भी न दोगे। MyGov.in COVID-19 Trackers: इन 13 तरीकों से पा सकते हैं Corona से जुड़ी आधिकारिक जानकारी। IRCTC: मरीजों, बुजुर्गों को लाने-ले-जाने को स्टेशन पर मिलती है बैट्री कार, जानें कैसे

Next Stories
1 अगले महीने लोन की किस्त भरने की है टेंशन? जानें- भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से लिया जा सकता है क्या फैसला
2 Swiggy ने की 1,100 कर्मचारियों की छंटनी, लॉकडाउन 4.0 के पहले दिन लिया फैसला, जोमैटो भी घटा चुका है स्टाफ
3 कोरोना-साल में 50 हजार रुपये तक चढ़ सकता है सोना, सिर्फ दो महीने में ही 25% बढ़ गए दाम, जानें- क्या है वजह
चुनावी चैलेंज
X