ताज़ा खबर
 

7 जून से अब तक 11 रुपये महंगा हुआ डीजल, पेट्रोल भी खूब चढ़ा, जानें- किस शहर में है कितना रेट

दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 80.43 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि डीजल का दाम 80.53 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इस तरह से 7 जून से अब तक बीते 22 दिनों में डीजल के दाम में 11.14 रुपये बढ़ गए हैं, जबकि पेट्रोल 9.17 रुपये से ज्यादा महंगा हो गया है।

petrol diesel22 दिनों में 11 रुपये महंगा हुआ पेट्रोल

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 7 जून के बाद से ही लगातार इजाफा हो रहा है। रविवार को कीमतों में कोई बदलाव न होने के बाद सोमवार को एक बार फिर से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो गई। पेट्रोल की कीमत में 5 पैसे बढ़े हैं, जबकि डीजल के रेट में 13 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। इसके साथ ही राजधानी दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 80.43 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि डीजल का दाम 80.53 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इस तरह से 7 जून से अब तक बीते 22 दिनों में डीजल के दाम में 11.14 रुपये बढ़ गए हैं, जबकि पेट्रोल 9.17 रुपये से ज्यादा महंगा हो गया है।

यह इजाफा पूरे देश में हुआ है, हालांकि राज्यों के मुताबिक वैट की दर अलग-अलग होती है। इसलिए कीमतों में राज्यों के अनुसार कुछ अंतर रहता है। 82 दिनों तक कीमतें स्थिर रहने के बाद 7 जून के बाद से कीमतों में इजाफा होना शुरू हुआ था। तब से अब तक डीजल के दाम 22 बार रिवाइज हो चुके हैं, जबकि पेट्रोल के रेट में 21 बार इजाफा हुआ है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में यह इजाफा ग्राहकों को इसलिए भी अखरने वाला है क्योंकि कोरोना के कहर के चलते जब करीब तीन महीने तक वैश्विक बाजार में रेट कम थे तो उसका फायदा उन्हें मिला था। तब सरकार ने एक्साइज ड्यूटी बढ़ाते हुए अंतरराष्ट्रीय मार्केट में आई कमी का इस्तेमाल अपना खजाना भरने के लिए किया था। आइए जानते हैं, अब किस शहर में डीजल और पेट्रोल का है क्या रेट…

पेट्रोल
दिल्ली में कीमत- 80.43 रुपये प्रति लीटर

मुंबई में कीमत- 87.19 रुपये प्रति लीटर

चेन्नै का रेट- 83.63 रुपये प्रति लीटर

कोलकाता में रेट- 82.10 रुपये प्रति लीटर

डीजल
दिल्ली में कीमत- 80.53 रुपये प्रति लीटर

मुंबई में कीमत- 87.19 रुपये प्रति लीटर

चेन्नै का रेट- 77.72 रुपये प्रति लीटर

कोलकाता में रेट- 75.64 रुपये प्रति लीटर

यह पहला मौका है, जब डीजल की कीमत दिल्ली में पेट्रोल के मुकाबले अधिक हुई है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों से सरकारी नियंत्रण हटाए जाने के बाद से ही दोनों के बीच लगातार अंतर कम हुआ है और अब तो पेट्रोल से डीजल महंगा है। दरअसल सरकारी नियंत्रण के दौर में पेट्रोल के मुकाबले डीजल की कीमतें इसलिए कम रखी जाती थीं क्योंकि इसका इस्तेमाल माल ढुलाई के लिए होता है और किसान इसका प्रयोग करते हैं। लेकिन अब इसकी कीमत बढ़ने की वजह से आने वाले दौर में महंगाई में भी इजाफा देखने को मिल सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दो दिन बचे! पीएम किसान योजना में रजिस्ट्रेशन कराएं और पाएं लगातार दो किस्तें, यूं घर बैठे होगा काम
2 गरीब कल्याण रोजगार अभियान में बढ़ सकती है जिलों की संख्या, योजना में शामिल न करने पर पश्चिम बंगाल ने किया था विरोध
3 नीति आयोग की सिफारिश के खिलाफ BSNL, कहा- 4जी टेंडर से चीनी कंपनियों को बाहर करने से घाटा और बढ़ेगा
यह पढ़ा क्या?
X