Demonetisation shaves off Rs 8000 crore; recovery quicker than thought: Mahindra & Mahindra - Jansatta
ताज़ा खबर
 

नोटबंदी से वाहन उद्योग को 8000 करोड़ रुपए का कारोबारी नुकसान

मह्रिंदा एंड मह्रिंदा के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका के अनुसार नोटबंदी के कारण नवंबर व दिसंबर महीने में भारतीय वाहन व ट्रैक्टर खंडों को 8000 करोड़ रुपए का कारोबारी नुकसान हुआ हालांकि सुधार अपेक्षा से कहीं तेज हुआ है और महीने के आखिर तक हालात सामान्य हो जाएंगे।

Author नई दिल्ली | March 2, 2017 10:06 PM
महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका

महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका के अनुसार नोटबंदी के कारण नवंबर व दिसंबर महीने में भारतीय वाहन व ट्रैक्टर खंडों को 8000 करोड़ रुपए का कारोबारी नुकसान हुआ हालांकि सुधार अपेक्षा से कहीं तेज हुआ है और महीने के आखिर तक हालात सामान्य हो जाएंगे। गोयनका ने कहा कि अगर नवंबर व दिसंबर महीने में आटोमोबाइल तथा ट्रैक्टर बिक्री में आई सारी गिरावट के लिए किसी और मौसमी कारण को नहीं बल्कि केवल नोटबंदी को जिम्मेदार माना जाए तो उद्योग को नुकसान 8000 करोड़ रुपए या कुल कारोबार के लगभग 10 प्रतिशत का हो सकता है।

उन्होंने कहा,‘ असर तो हमारी सोच से कहीं अधिक रहा और सुधार भी हमारी अपेक्षा से कहीं अधिक तेजी से हुआ है। मेरा मानना है कि मार्च के आखिर तक हम सामान्य स्थिति में होंगे।’ गोयनका ने कहा कि अगर सरकार ने नोटबंदी के समय जो करना चाहा था वह कर लेती है तो नोटबंदी के अर्थव्यवस्था को बड़े दीर्घकालिक फायदे होंगे। उन्होंने कहा पिछले साल सितंबर व अक्तूबर में अच्छे त्योहारी सीजन बाद वाहन उद्योग की बिक्री मजबूती की राह पर थी लेकिन नवंबर की नोटबंदी ने इस पर एक तरह से विराम लगा दिया।

सरकार ने 8 नवंबर की रात को नोटबंदी की घोषणा की और 1000 व 500 रुपए के मौजूदा नोटों को चलन से बाहर कर दिया।  उन्होंने कहा, ‘हमने एक फार्मूले के तहत यह गणना की है कि नवंबर व दिसंबर में ट्रैक्टर तथा वाहन उद्योग को 8000 करोड़ रुपए का कारोबारी नुकसान हुआ।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App