scorecardresearch

अशनीर ग्रोवर, उनकी पत्नी और अन्य के खिलाफ BharatPe के मुकदमें दिल्ली HC से जारी हुआ समन, 80 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप

BharatPe की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा कि अशनीर ग्रोवर को कंपनी के खिलाफ दुष्प्रचार अभियान चलाने से रोका जाए।

अशनीर ग्रोवर, उनकी पत्नी और अन्य के खिलाफ BharatPe के मुकदमें दिल्ली HC से जारी हुआ समन, 80 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप
BharatPe के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर अशनीर ग्रोवर (फोटो क्रेडिट: इंस्टाग्राम)

दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) ने गुरुवार को BharatPe की ओर से दायर एक मुकदमे में अपने पूर्व प्रबंध निदेशक अशनीर ग्रोवर (Ashneer Grover), उनकी पत्नी माधुरी जैन ग्रोवर (Madhuri Jain Grover) और अन्य व्यक्तियों के खिलाफ समन जारी किया है।

मुकदमे में प्रतिवादी अशनीर ग्रोवर, उनकी पत्नी, उनके बहनोई, ससुर और सास हैं। न्यायमूर्ति नवीन चावला ने प्रतिवादियों को समन जारी किया और अंतरिम राहत की मांग करने वाले भारतपे के आवेदन पर अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करने के लिए उन्हें दो सप्ताह का समय भी दिया।

सुनवाई के दौरान BharatPe की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी (Senior Advocate Mukul Rohatgi) पेश हुए। उन्होंने सुनवाई के दौरान इस साल की शुरुआत में अशनीर ग्रोवर के इस्तीफे के बाद उनके द्वारा किए गए ट्वीट्स की ओर इशारा किया। रोहतगी ने कहा कि अशनीर ग्रोवर को फिनटेक कंपनी के खिलाफ “दुष्प्रचार अभियान” चलाने से रोका जाए। रोहतगी ने कहा कि ग्रोवर पूर्व प्रबंध निदेशक रहते हुए अपने पूरे परिवार को लेकर आए। रोहतगी ने कहा, “कंपनी को लूटने के लिए वे (प्रतिवादी) पानीपत से नकली विक्रेता बनाते हैं जिन्हें 50-60 करोड़ का भुगतान किया गया था और कुछ भी नहीं खरीदा गया था। यहां तक कि विक्रेता मौजूद ही नहीं हैं।”

रोहतगी ने यह भी आरोप लगाया कि ग्रोवर और अन्य प्रतिवादियों द्वारा किए गए गड़बड़ी को स्वीकार कर लिया गया है। चूंकि रोहतगी भारतपे के खिलाफ किए गए विभिन्न ट्वीट्स के माध्यम से अदालत का रुख कर रहे थे, इसपर जज चावला ने मौखिक रूप से टिप्पणी करते हुए कहा कि ये सभी निराशा है। रोहतगी ने आगे कहा कि ग्रोवर ने न तो अपने इस्तीफे को चुनौती दी थी और न ही अपनी पत्नी या बहनोई को कंपनी से निकाले जाने को चुनौती दी थी। बता दें कि मार्च में उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दिया था

मुकुल रोहतगी ने कहा, “वह हमारे साथ थे। वह हमारा एक हिस्सा हैं। वह अब चले गए हैं। उनकी पत्नी भी कहीं चली गई हैं। रोहतगी ने कहा कि उन्होंने अपने इस्तीफे या अपनी पत्नी या बहनोई को हटाने को चुनौती नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि मैं यह भी चाहता हूं कि उनकी संपत्ति का खुलासा किया जाए। बता दें कि मामले की सुनवाई अब जनवरी 2023 में होगी।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 08-12-2022 at 12:18:48 pm
अपडेट