ताज़ा खबर
 

सायरस मिस्त्री को झटका, Tata Sons चेयरमैन बनाने के NCLAT के फैसले पर SC ने लगाई रोक

इससे पहले, एनसीएलएटी ने उन्हें समूह के इस पद बहाल करने का आदेश दिया था।

Author नई दिल्ली | Updated: January 10, 2020 3:49 PM
इस विवाद में SC ने NCLAT के आदेश को चुनौती देने वाली Tata Sons Group की याचिका पर सुनवाई को हामी भर दी है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

Supreme Court से साइरस मिस्त्री को शुक्रवार को बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने National Company Law Appellate Tribunal (NCLAT)  के आदेश को चुनौती देने वाली Tata Sons Group की याचिका पर सुनवाई करने के लिए हामी भर दी है।

यही वजह है कि टॉप कोर्ट ने मिस्त्री को Tata Group के कार्यकारी चेयरमैन पद पर बहाल करने के ट्रिब्यूनल के आदेश पर रोक लगा दी है। मुख्य न्यायाधीश एस.ए.बोबडे, न्यायमूर्ति बी.आर.गवई और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की बेंच ने इसके साथ ही मिस्त्री समेत अन्य को नोटिस जारी किया है। सुनवाई के दौरान बेंच ने कहा कि एनसीएलएटी के फैसले में कुछ बुनियादी खामियां थीं और हमें इसलिए इस मसले पर विस्तार से सुनवाई करनी चाहिए।

बकौल बेंच, “आप (सायरस) तो बहुत लंबे वक्त से जिम्मेदारी से बाहर थए। क्या इसने आपको नुकसान पहुंचाया…आज आपको इस चीज से कैसे नुकसान हो रहा है?” बेंच आगे बोली- हमने पाया है कि एनसीएलएटी द्वारा पास किए गए न्यायिक आदेशों में खामिया हैं।

इससे पहले, एनसीएलएटी ने उन्हें समूह के इस पद बहाल करने का आदेश दिया था। दरअसल, टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड (TSPL) ने मिस्त्री को टीएसपीएल के कार्यकारी चेयरमैन पद पर बहाल करने के एनसीएलएटी के 18 दिसंबर के आदेश के खिलाफ SC में अपील की थी। एनसीएलएटी ने अपने आदेश में कार्यकारी चेयरमैन पद पर पर बैठाये गये एन. चंद्रशेखरन की नियुक्ति को “अवैध” ठहराया था।

बता दें कि मिस्त्री को टाटा संस के चेयरमैन पद से 24 अक्टूबर 2016 को अचानक हटा दिया गया था। बाद में उन्हें होल्डिंग कंपनी के बोर्ड से भी बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था और फिर समूह की कुछ अन्य कंपनियों से भी निकाल दिया गया था।

महाराष्ट्र में चार जुलाई, 1968 को जन्मे मिस्त्री मुंबई यूनिवर्सिटी से कॉमर्स स्ट्रीम में ग्रैजुएट हैं। उन्होंने इसके अलावा लंदन के जाने-माने इंपीरियल कॉलेज से इंजीनियरिंग की है। साथ ही लंदन स्कूल ऑफ बिजनेस से मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रैजुएशन भी किया है।

करीबियों की मानें तो वह बेहद ही सरल मिजाज के व्यक्ति ही हैं। मिस्त्री 20 साल से अधिक का अनुभव प्रोडक्शन, एंटरटेनमेंट, इलेक्ट्रिसिटी और फाइनेंशियल बिजनेस सरीखे सेक्टर्स में रखते हैं। नामी वकील इकबाल चागला की बेटी रोहिका उनकी पत्नी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 अडानी समूह को झटका! शेयर धांधली केस में निचली अदालत ने दी थी AEL को क्लीन चिट; अब सेशन कोर्ट ने पलटा फैसला
ये पढ़ा क्या?
X