ताज़ा खबर
 

कोरोना संकट के बीच इन कंपनियों का वादा, एक साल भी चले लॉकडाउन तो नौकरी पर आंच नहीं, भारत में लाखों लोगों को मिलेगी राहत

अमेरिका की दिग्गज इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी जेपी मॉर्गन के भारतीय प्रवक्ता ने कहा कि हमारी संस्था जानती है कि सफलता के लिए लोग कितने जरूरी हैं। उन्होंने कहा, 'हमने फैसला लिया है कि कोरोना वायरस के चलते पैदा हुए संकट के बीच किसी की भी नौकरी न जाए।'

Author Edited By सूर्य प्रकाश नई दिल्ली/बेंगलुरु | Updated: April 6, 2020 12:40 PM
कोरोना संकट में भी इन कंपनियों का वादा, नौकरियों पर न आएगी आंच

एक तरफ कोरोना के संकट के चलते दुनिया भर में कंपनियां नौकरियों पर संकट की बात कर रही हैं तो कुछ ऐसे भी संस्थान हैं, जिन्होंने कर्मचारियों को सुरक्षित नौकरी का भरोसा दिलाया है। भारत में कारोबार करने और लाखों लोगों को रोजगार देने वाली कई दिग्गज ग्लोबल कंपनियों ने भरोसा दिलाया है कि लॉकडाउन यदि जारी रहता है तो भी वे लोगों की छटनी नहीं करेंगी। कुछ कंपनियों ने 90 दिनों तक रोजगार सुरक्षित रहने का भरोसा दिलाया है, जबकि कई कंपनियों ने पूरे एक साल के लिए गारंटी दी है। इसके अलावा नई भर्तियां न करके भी मौजूदा कर्मचारियों के भविष्य को सेफ रखने की कवायद की जा रही है।

कर्मचारियों को नौकरी की सुरक्षा का भऱोसा दिलाने वाली ये कंपनियां हैं, SAP, मॉर्गन स्टैनली, सेल्सफोर्स, पालो अल्टो नेटवर्क्स, PayPal, सिटीग्रुप, जेपी मॉर्गन, बैंक ऑफ अमेरिका। अमेरिका की दिग्गज इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी जेपी मॉर्गन के भारतीय प्रवक्ता ने कहा कि हमारी संस्था जानती है कि सफलता के लिए लोग कितने जरूरी हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने फैसला लिया है कि कोरोना वायरस के चलते पैदा हुए संकट के बीच किसी की भी नौकरी न जाए। इसके लिए हमने फिलहाल हायरिंग को पूरी तरह से रोक दिया है। इसके अलावा हम कोरोना के संकट से निपटने के लिए स्थानीय सरकारों और प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।’

इसके अलावा SAP का कहना है कि अगले 90 दिनों में हम किसी को हटाने नहीं जा रहे। कंपनी के भारत में 13,000 से ज्यादा कर्मचारी हैं। SAP ने कहा, ‘हमारे कर्मचारी हमारे दिलों में जगह रखते हैं। हम उन्हें भरोसा दिलाते हैं कि इस संकट के बीच हम उनके साथ खड़े रहेंगे।’ मॉर्गन स्टैनली के सीईओ जेम्स गॉर्मैन ने भी पिछले दिनों कहा था कि एंप्लॉयीज की नौकरी इस साल के अंत तक तो कम से कम पक्की ही है।

भारतीय कंपनियों के 200 सीईओ बोले, आ सकता है संकट: हालांकि कनफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री के एक सर्वे में भारतीय कंपनियों के दिग्गजों ने भविष्य में नौकरियों पर संकट की बात कही है। CII के सर्वे में कंपनियों के सीईओ ने कहा कि इस संकट का उनके ऑपरेशन पर गहरा असर पड़ा है। करीब 200 सीईओ के साथ किए गए इस सर्वे में यह राय उभरकर सामने आई कि भविष्य में नौकरियों पर भी संकट पैदा हो सकता है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल ।  कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 पीएम किसान सम्मान निधि योजना का आवेदन हुआ खारिज तो न लें टेंशन, जानें- कैसे घर बैठे कर सकते हैं करेक्शन
2 सुकन्या समृद्धि योजना, PPF स्कीम, किसान विकास पत्र समेत अब भी फायदेमंद हैं ये बचत योजनाएं, जानें- किस पर मिल रहा कितना ब्याज
3 वर्क फ्रॉम होम की चर्चा पर बोले माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, मैं तो ‘वर्क फ्रॉम बेड’ करता था, अब छोड़ दिया