ताज़ा खबर
 

भाजपा नेताओं की मदद से बदले गए पुराने नोट: सिब्बल

कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि नोटबंदी के बाद भाजपा के नेताओं और सरकारी तंत्र के कुछ लोगों की मदद से 40 फीसद की दलाली लेकर पुराने नोट बदले गए।

सिब्बल ने नए स्टिंग वीडियो जारी कर यह दावा किया कि इसमें भाजपा का एक नेता और मुंबई का एक डीसीपी पुराने नोट बदलवाने के लिए हामी भरता है और यह बातचीत मंत्रालय भवन में हुई।

कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि नोटबंदी के बाद भाजपा के नेताओं और सरकारी तंत्र के कुछ लोगों की मदद से 40 फीसद की दलाली लेकर पुराने नोट बदले गए। पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कांग्रेस मुख्यालय में कुछ स्टिंग वीडियो जारी करते हुए यह सवाल भी किया कि जब देश में नोटबंदी घोटाला चल रहा था तब तमाम एजंसियां कहां थीं। सिब्बल द्वारा जारी की गई इन वीडियो की प्रामाणिकता की स्वतंत्र पुष्टि नहीं हो सकी। उन्होंने पिछले नौ अप्रैल को भी नोटबंदी पर कैबिनेट सचिवालय में कार्यरत रहे राहुल रथरेकर नामक व्यक्ति का स्टिंग जारी कर भाजपा पर हमला बोला था। कांग्रेस नेता ने संवाददाताओं से कहा कि नौ अप्रैल को हमने जो खुलासा किया था उसको लेकर कैबिनेट सचिवालय ने भी एक बयान जारी कर इसकी पुष्टि कर दी कि रथरेकर उसके साथ काम करता था और उसे हटाया गया था। सवाल है कि दो साल बाद रथरेकर की गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई?

सिब्बल ने नए स्टिंग वीडियो जारी कर यह दावा किया कि इसमें भाजपा का एक नेता और मुंबई का एक डीसीपी पुराने नोट बदलवाने के लिए हामी भरता है और यह बातचीत मंत्रालय भवन में हुई। उन्होंने सवाल किया कि जब यह सब हुआ तो तमाम जांच करने वाले लोग कहां थे।  उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में जांच का न होना ये दर्शाता है कि इस लूट में शामिल लोगों की सुरक्षा की जा रही है।

नोटबंदी के बाद नोटों की अदला-बदली को लेकर सिब्बल ने सबसे पहले विपक्ष के तमाम नेताओं के साथ एक वीडियो कंस्टीट्यूशन क्लब में जारी किया था और यह खुलासा भी किया था कि किस प्रकार दलाली खाकर कुछ भाजपा नेताओं की मदद से नोट बदले गए। हालांकि उनकी ओर से जारी किसी भी वीडियो की स्वतंत्र रूप से प्रमाणिकता की पुष्टि नहीं हुई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कर्नाटक में जद (सेकु) से जुड़े लोगों के ठिकानों पर आयकर छापे
2 एयर इंडिया, बीएसएनएल के बाद अब भारतीय डाक विभाग भी खस्‍ताहाल, 15000 करोड़ तक पहुंचा घाटा
3 नीरव और माल्या ही नहीं, बल्कि ये 36 कारोबारी भी देश छोड़कर हुए फरार: ED
यह पढ़ा क्या?
X