ताज़ा खबर
 

चीन के विरोध में खूब बना माहौल, पर चीनी स्मार्टफोन्स की मांग और बढ़ी, टॉप 5 में हैं 4 कंपनियां

चीन की प्रमुख 4 कंपनियों का कुल मार्केट शेयर 66.4 फीसदी है, जो बीते साल इसी तिमाही में 60.9 फीसदी था। 2017 से ही भारतीय बाजार में दबदबा कायम रखने वाली कंपनी Xiaomi अब भी 29.4 पर्सेंट हिस्सेदारी के साथ पहले नंबर पर है।

chinese smartphoneचीन के विरोध में माहौल होने के बाद भी चीनी कंपनियों के स्मार्टफोन्स की बढ़ी सेल

चीन और उसकी कंपनियों के खिलाफ भले ही बीते कुछ महीनों में माहौल बना हो, लेकिन इसका असर स्मार्टफोन्स की बिक्री में नहीं दिखा है। चीनी कंपनियों ने स्मार्टफोन मार्केट में अप्रैल से जून तिमाही के दौरान अपने शेयर में इजाफा किया है। सप्लाई चेन बाधित होने और माहौल खिलाफ होने के बाद भी चीनी कंपनियों की सेल में इजाफा होना उल्लेखनीय है। इंटरनेशनल डाटा कॉरपोरेशन के मुताबिक देश की 5 टॉप स्मार्टफोन कंपनियों में 4 कंपनियां चीन की हैं।

इन कंपनियों का कुल मार्केट शेयर 66.4 फीसदी है, जो बीते साल इसी तिमाही में 60.9 फीसदी था। 2017 से ही भारतीय बाजार में दबदबा कायम रखने वाली कंपनी Xiaomi अब भी 29.4 पर्सेंट हिस्सेदारी के साथ पहले नंबर पर है। शाओमी के बाद 17.5 पर्सेंट के वीवो दूसरे, रीयलमी 9.8 पर्सेंट हिस्सेदारी के साथ तीसरे और Oppo चौथे नंबर पर है। हालांकि जनवरी-मार्च के दौरान इन कंपनियों का शेयर 75 फीसदी के करीब था, इस तरह से देखें तो बीते वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही के मुकाबले चीनी कंपनियों का मार्केट शेयर कम हुआ है।

यही नहीं सभी चीनी कंपनियों के मार्केट शेयर की बात करें तो  अप्रैल-जून तिमाही में यह 72 पर्सेंट ही रह गया है, जबकि जनवरी-मार्च के दौरान यह 81 पर्सेंट था। हालांकि विश्लेषकों का कहना है कि इसकी वजह यह है कि सप्लाई चेन प्रभावित होने के चलते वे मांग को पूरा नहीं कर पाई हैं। यही वजह है कि मार्केट शेयर में गिरावट देखने को मिली है, लेकिन अब सप्लाई चेन सुधरने के बाद एक बार फिर से उनकी हिस्सेदारी बढ़ सकती है।

गौरतलब है कि भारत सरकार ने लद्दाख सीमा पर चीन से तनाव के बाद टिकटॉक समेत तमाम ऐप्स को बैन कर दिया था। यही नहीं रेलवे, हाईवे समेत कई सरकारी ठेकों से भी चीनी कंपनियों को बाहर कर दिया था। यहां तक कि चीनी कंपनी के शामिल होने की वजह से रेलवे ने एक टेंडर कैंसल तक कर दिया था और उसे दोबारा जारी किया गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आत्मनिर्भर भारत अभियान पर नीति आयोग के वाइस चेयरमैन और मोदी सरकार के पू्र्व सलाहकार में ठनी
2 पीएम नरेंद्र मोदी ने सैलरी की बचत को यहां किया है निवेश, एक साल में 36 लाख रुपये बढ़ गई पूंजी
3 नीता अंबानी को मुकेश ने ही दिया था पहला असाइनमेंट, बोली थीं- रिलायंस में रोज पूरा करना होता है टारगेट
ये पढ़ा क्या?
X