ताज़ा खबर
 

अर्थव्यवस्था में भी चीन ने की है बड़ी घुसपैठ, पेटीएम, ओला और जोमैटो समेत इन कंपनियों में किया है निवेश

देश के कई नामी स्टार्टअप्स में चीनी कंपनियों ने बड़ा निवेश कर रखा है। इसके अलावा स्मार्टफोन से लेकर कई अन्य सामान तैयार करने वाली कई चीनी कंपनियां सीधे तौर पर भारत में बड़ा मुनाफा कमा रही हैं और मार्केट की बड़ी हिस्सेदार हैं।

jack maभारतीय स्टार्टअप्स में चीनी कंपनियों ने किया है बड़ा निवेश

भारत और चीन के सैनिकों के बीच 45 सालों पर पहली बार हिंसक झड़प होने और 20 भारतीय जवानों के शहीद होने से देश भर में गुस्से का माहौल है। इस बीच चीन के सामान के बहिष्कार की भी अपील की जा रही है। हालांकि जिस तरह से चीन भारतीय सीमा में अकसर अतिक्रमण और घुसपैठ की कोशिशें करता है, उससे कहीं मजबूत पैठ उसने भारत की अर्थव्यवस्था में बना रखी है। देश के कई नामी स्टार्टअप्स में चीनी कंपनियों ने बड़ा निवेश कर रखा है। इसके अलावा स्मार्टफोन से लेकर कई अन्य सामान तैयार करने वाली कई चीनी कंपनियां सीधे तौर पर भारत में बड़ा मुनाफा कमा रही हैं और मार्केट की बड़ी हिस्सेदार हैं। आइए जानते हैं, किन कंपनियों के जरिए चीन ने भारत की अर्थव्यवस्था में की है बड़ी घुसपैठ…

जैक मा का अलीबाबा ग्रुप: चीन के कारोबारी जैक मा की लीडरशिप वाले अलीबाबा ग्रुप की फाइनेंशियल कंपनी Ant Financial ने भारत के कई बड़े स्टार्टअप्स में निवेश कर रखा है। पेटीएम, स्नै़पडील जैसी कंपनियों में अली बाबा ग्रुप ने लाखों डॉलर का निवेश किया है। देश की करीब 7 कंपनियों में अलीबाबा ग्रुप ने 2.7 अरब डॉलर की बड़ी पूंजी लगाई है। यही नहीं पेटीएम की ओर से शुरू की गई ईकॉमर्स सर्विस पेटीएम मॉल में भी अलीबाबा ने बड़ा निवेश किया है।

टेंसेंट ने भी लगाई है बड़ी पूंजी: यह भी चीन की ही कंपनी है, जिसने भारत के स्टार्टअप्स सेक्टर में पूंजी लगाई है। फ्लिपकार्ट, Swiggy और ओला जैसी कंपनियां भी इसमें शामिल हैं। चीन में मेसेजिंग ऐप WeChat का संचालन करने वाल कंपनी Tencent ने भारत के करीब 15 स्टार्टअप्स में 2 अरब डॉलर की पूंजी लगाई है। खाता बुक, MyGate, PolicyBazaar और उड़ान जैसे स्टार्टअप्स में टेंसेंट ने निवेश किया है।

इन स्टार्टअप्स में भी लगी है चीनी पूंजी: चीन की कंपनी Shunwei Capital ने फूड डिलिवरी स्टार्टअप जोमैटो, सोशल कॉमर्स स्टार्टअप Meesho और मेसेजिंग ऐप Sharechat में निवेश किया है। कंपनी की ओर से भारत के करीब 17 स्टार्टअप्स में 129 मिलियन डॉलर का निवेश किया गया है। चीनी इन्वेस्टिंग कंपनी Fosun Group ने भी भारत के करीब 12 स्टार्टअप्स में 85 मिलियन डॉलर का निवेश किया है। इन कंपनियों में LetsTransport, Mylo जैसे स्टार्टअप्स शामिल हैं, जो अभी शुरुआती दौर में ही हैं। यही नहीं चीनी कंपनी हिलहाउस कैपिटल ने भी भारत में बड़ा निवेश किया है।

शाओमी ने भी किया है बड़ा निवेश: चीन की दिग्गज स्मार्टफोन कंपनी शाओमी ने भी भारत में Sharechat और Krazybee जैसे स्टार्टअप्स में निवेश किया है। शाओमी भारत के स्मार्टफोन मार्केट की सबसे बड़ी हिस्सेदार है। यही नहीं भारत में कंपनी के सीईओ मनु कुमार जैन ने पिछले दिनों कहा था कि शाओमी भारत के 100 स्टार्टअप्स में 6,000 करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बना रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डाक कर्मचारी की कोरोना से मौत पर परिजनों को मिलेंगे 10 लाख रुपये, वेरिफिकेशन होगा जरूरी
2 देश में बेरोजगारी की दर में आई बड़ी गिरावट, सिर्फ 11.6 पर्सेंट लोगों के पास ही अब नहीं कोई रोजगार: CMIE
3 पेट्रोल और डीजल के दाम में फिर इजाफा, दिल्ली में 77.28 रुपये लीटर हुआ पेट्रोल, 11 दिन में बढ़े 6 रुपये
ये पढ़ा क्या?
X