ताज़ा खबर
 

चीन-अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध गहराने के आसार, ड्रैगन ने दिए रेयर अर्थ धातुओं की सप्लाई रोकने के संकेत

चीन ने अमेरिका के साथ जारी व्यापार युद्ध में रेयर अर्थ धातुओं को नया हथियार बनाने के संकेत दिये हैं। चीन के सरकारी मीडिया के अनुसार, स्मार्टफोन से लेकर सैन्य हार्डवेयर तक बनाने में बेहद अहम इन धातुओं की अमेरिका को की जाने वाली आपूर्ति को रोका जा सकता है।

Author बीजिंग | Published on: May 29, 2019 2:59 PM
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

चीन ने अमेरिका के साथ जारी व्यापार युद्ध में रेयर अर्थ धातुओं को नया हथियार बनाने के संकेत दिये हैं। चीन के सरकारी मीडिया के अनुसार, स्मार्टफोन से लेकर सैन्य हार्डवेयर तक बनाने में बेहद अहम इन धातुओं की अमेरिका को की जाने वाली आपूर्ति को रोका जा सकता है। इस बीच चीन की स्मार्टफोन कंपनी हुवावेई ने अमेरिका की अदालत में कहा है कि उसके उपकरणों की खरीद पर लगे प्रतिबंध हटाये जाने चाहिये। कंपनी ने अपने ऊपर लगे प्रतिबंध के खिलाफ अमेरिकी अदालत में मार्च में याचिका दायर की थी।

चीन के सरकारी मीडिया ने वहां के राष्ट्रीय विकास एवं सुधार आयोग के एक अज्ञात अधिकारी के हवाले से कहा, ‘‘आपने पूछा है कि क्या अमेरिका के अवांछित आक्रामक कदमों के खिलाफ रेयर अर्थ धातु चीन का अगला हथियार हो सकते हैं ? मैं आपको यही बता सकता हूं कि यदि कोई देश हमारे रेयर अर्थ निर्यात से बने उत्पादों का इस्तेमाल कर चीन के विकास को रोकता है तो गांझोउ और पूरे चीन के लोग इससे निश्चित तौर पर खुश नहीं होंगे।’’ अधिकारी ने कहा कि रेयर अर्थ संसाधन पहले चीन की जरूरतों को पूरा करेंगे। हालांकि उन्होंने कहा कि चीन दुनिया भर के देशों की वैधानिक जरूरतों की पूर्ति के लिये भी तैयार है।

उल्लेखनीय है कि चीन रेयर अर्थ धातुओं के कुल वैश्विक उत्पादन में 95 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी रखता है। अमेरिका के कुल रेयर अर्थ आयात में चीन का 80 प्रतिशत से अधिक योगदान है। इन धातुओं का इस्तेमाल स्मार्टफोन और टेलीविजन से लेकर कैमरा और लाइट बल्ब बनाने में होता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जून में नीतिगत दरों में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है रिजर्व बैंक
2 अखबार का दावा- रिलायंस जियो में 5000 लोगों की छंटनी, कंपनी ने किया इनकार
3 एक सांसद जितनी संपत्ति जुटाने के लिए औसत टैक्सपेयर को करना होगा 345 साल तक काम!