ताज़ा खबर
 

स्टील उत्पादन के मामले में आगामी 2 वर्षों में देश दूसरे स्थान पर होगा: बीरेन्द्र सिंह

चौधरी बीरेन्द्र सिंह ने कहा कि इस्पात मंत्रालय ने आगामी वर्ष में स्टील का उत्पादन 20 करोड़ टन रहने का लक्ष्य तय किया है।

Author जींद | July 31, 2016 9:19 PM
केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह। (पीटीआई फाइल फोटो)

केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह ने कहा कि देश में दुनिया का सबसे बेहतरीन गुणवत्ता का स्टील तैयार करने के लिए इस्पात मंत्रालय द्वारा तैयारियां शुरू कर दी गई है। फिलहाल देश स्टील उत्पादन के मामले में दुनिया में तीसरा देश हैं और हमारा यह प्रयास है कि आगामी दो-तीन वर्षों में भारत दूसरे स्थान पर पहुंच जाए। केंद्रीय मंत्री ने यह बात रविवार (31 जुलाई) को स्थानीय उत्सव होटल में आयोजित उत्तरी क्षेत्र ग्राहक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। यह बैठक हरियाणा में इस्पात का उपयोग बढ़ाने के लिए हुई। उन्होंने कहा कि देश में स्टील उत्पादन को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा प्रयास किया जा रहा है। देश में स्थापित स्टील प्लांटों की कार्य क्षमता बढ़ाने एवं इनके जीर्णाेद्घार के लिए 62 हजार करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी।

सिंह ने कहा कि इस्पात मंत्रालय ने आगामी वर्ष में स्टील का उत्पादन 20 करोड़ टन रहने का लक्ष्य तय किया है। स्टील का यह उत्पाद बेहतरीन क्वालिटी का होगा। उन्होंने कहा कि देश में फिलहाल नौ करोड़ टन स्टील की खपत है। इस खपत को बढ़ाने के लिए रेलवे ओवर ब्रिज, सड़क निर्माण व अन्य क्षेत्रों में भी स्टील का उपयोग करने पर मंत्रालय द्वारा विचार-विमर्श किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश के कुल स्टील उत्पादन की 40 प्रतिशत खपत उत्तर भारत में हो रही है। इस खपत को देखते हुए उत्तर भारत में भी स्टील का कारखाना लगाए जाने पर विचार किया जा रहा है ताकि लोगों को बढ़िया गुणवत्ता का स्टील कम दामों में उपलब्ध करवाया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App