ताज़ा खबर
 

Chanda Kochhar: वीडियोकॉन केस में पूछताछ पूरी होने तक ICICI बैंक ने कर दी चंदा कोचर की छुट्टी, सीओओ नियुक्त

Chanda Kochhar ICICI Bank Latest News: कोचर और उनके परिवार पर वीडियोकॉन समूह को लोन देकर फायदा लेने का आरोप है। व्हिसल ब्लोअर ने इस मामले को लेकर शिकायत की थी, जिसके बाद बैंक ने बीते महीने कोचर के खिलाफ जांच की बात कही थी।

ICICI बैंक की मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओं चंदा कोचर। (पीटीआई फाइल फोटो)

Chanda Kochhar ICICI Bank: आईसीआईसीआई बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चंदा कोचर अब से छुट्टी पर रहेंगी। सोमवार (18 जून) को बैंक ने कहा है कि वीडियोकॉन लोन मामले में जब तक पूछताछ पूरी नहीं हो जाती, तब तक वह अवकाश पर रहेंगी। निजी बैंक ने उनकी जगह काम संभालने के लिए संपीद बख्शी को नया मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) बनाया है, जो आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल के प्रबंधकीय निदेशक (एमडी) और सीईओ हैं। वह आज (19 जून) बैंक के सीईओ पद की जिम्मेदारी संभालेंगे।

बैंक बोर्ड का कहना है कि कोचर ने गर्वनेंस और कॉरपोरेट मानदंडों के उच्च स्तर के अंतर्गत जांच पूरी होने तक छुट्टी पर जाने का फैसला किया था, जिसका ऐलान 30 मई को हुआ था। बता दें कि कोचर और उनके परिवार पर वीडियोकॉन समूह को लोन देकर फायदा लेने का आरोप है। व्हिसल ब्लोअर ने इस मामले को लेकर शिकायत की थी, जिसके बाद बैंक ने बीते महीने कोचर के खिलाफ जांच की बात कही थी।

ICICI बैंक ने सोमवार को बख्शी को बतौर सीओओ नियुक्त किया है। (फोटोः ICICI बैंक)

बैंक के अनुसार, बख्शी सभी कॉरपोरेट मामले और काम-काज देखेंगे। प्रबंधन विभाग और सभी कार्यकारी अधिकारी उन्हीं को रिपोर्ट करेंगे। बख्शी, कोचर को रिपोर्ट करेंगे, बैंक की एमडी और सीईओ के तौर पर काम जारी रखेंगी। कोचर के अवकाश के दौरान बख्शी बैंक बोर्ड को भी रिपोर्ट करेंगे।

आरोप है कि कोचर ने बैंक की ओर से पति दीपक कोचर के कारण वीडियोकॉन को तकरीबन 3200 करोड़ रुपए का कर्ज दिया। कंपनी इसमें से लगभग 2800 करोड़ रुपए लौटाने में असफल रही। साल 2017 में इस रकम को बैंक ने नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स (एनपीए) में दिखा दिया। 2008 में वीडियोकॉन समूह के मालिकान वेणुगोपाल धूत ने कोचर के पति संग न्यू पावर रिन्यूबल्स नाम की कंपनी बनाई। कोचर के परिवार और धूत की इसमें 50-50 फीसदी की हिस्सेदारी थी।

शुरुआत में कोचर पर लगे आरोपों को लेकर बैंक ने उनका बचाव किया था। मगर बाद में उन्होंने इस्तीफे का ऐलान किया, लिहाजा बैंक भी दबाव में आ गया। हालांकि, बाद में धूत कोचर के पति संग उस उद्यम से अलग हो गए थे। कोचर लोन समिति की उस बैठक में जाने से खुद को अलग नहीं कर पाईं, जिसमें 3200 करोड़ का कर्ज वीडियोकॉन समूह को दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App