ताज़ा खबर
 

मंहगाई झेलने के लिए कस लें कमर, 1 अप्रैल से इंश्योरेंस प्रीमियम में बढ़ोतरी करेगी आपकी जेब को हल्का

1 अप्रैल 2017 से कार, बाइक और हेल्थ इंश्योरेंस मंहगे होंगे।

प्रतीकात्मक फोटो।

आगामी वित्त वर्ष 2017-18 आम आदमी के लिए कोई राहत लाता हुआ नजर नहीं आ रहा है। नए वित्त वर्ष में जनता पर जल्द ही मंहगाई की मार पड़ सकती है। 1 अप्रैल 2017 से कार, बाइक और हेल्थ इंश्योरेंस मंहगे होंगे। इंश्योरेंस रेग्युलेट्री एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (IRDAI) ने इस काम के लिए मंजूरी दे दी है। IRDAI ने इंश्योरेंस कंपनियों को एजेंटों के कमिशन की रकम में संशोधन की अनुमति दे दी है। हालांकि संशोधन की अनुमति के बावजूद, प्रीमियम में 5 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त नहीं होगी। वहीं प्रीमियम रेट में बढ़ोतरी के बाद कार, बाइक और हेल्थ इंश्योरेंसे के दाम में बढ़ोतरी होगी। वहीं बीमा कंपनियां अपने एजेंटों को फायदा दने के लिए जल्द ही रिवॉर्ड सिस्टम की भी शुरुआत कर सकती है। IRDAI विनियम 2016 (बीमा एजेंटों और बीमा के लिए आयोग या पारिश्रमिक या पुरस्कार का भुगतान) 1 अप्रैल 2017 ले मान्य हो जाएगा।

विनियम बीमा एजेंटों के लिए कमीशन-पारिश्रमिक में संशोधन और रिवॉर्ड सिस्टम लाएंगे। ऐसे में प्रीमियम रेट में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि इसमें एक राहत की बात यह होगी कि बढ़ोतरी की दर 5 फीसद से ज्यादा की नहीं होगी। नए विनियम ने इनकी सीमा 5 फीसद तय की गई है। साथ ही IRDAI ने थर्ड पार्टी मोटर बीमा प्रीमियम बढ़ाने की मंजूरी सभी जरूरी जांच के बाद दी है। गौरतलब है कि थर्ड पार्टी मोटर बीमा प्रीमियम IRDAI ही तय करता है, भारत में थर्ड पार्टी मोटर बीमा करवाना आवश्यक है। इसके अलावा बीमा कंपनियों को एक सर्टिफिकेट जारी कर यह जानकारी भी देनी होगी कि पहले से बेची गई किसी पोलिसी में कोई और बदलाव नहीं किए जाएंगे।
बता दें कि लोकसभा में बजट 2017-18 के तहत वित्तीय बिल भी पास कर दिया गया था जिसके बाद 1 अप्रैल से इनकम टैक्स से जुड़े नियमों में भी बदलाव हो जाएगा। नए फाइनेंस बिल के पास होने के बाद कई नियमों में परिवर्तन किया गया है। इन नियमों को ध्यान में रखकर फाइनेंशियल ईयर 2017-18 के लिए टैक्स प्लानिंग करना फायदेमंद होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App