ताज़ा खबर
 

कोरोना काल में बढ़ी पुरानी कारों की मांग, देश में 50 स्टोर खोलने की तैयारी में CarDekho कंपनी, जानें- पूरा प्लान

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते देश में यूज्ड यानी पुरानी कारों की मांग में तेजी से इजाफा हुआ है। दरअसल लोग सुरक्षित सफर के लिए सार्वजनिक परिवहन की बजाय निजी साधनों के इस्तेमाल पर जोर दे रहे हैं।

used carsपुरानी कारों की मांग में कोरोना काल में हुआ इजाफा

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते देश में यूज्ड यानी पुरानी कारों की मांग में तेजी से इजाफा हुआ है। दरअसल लोग सुरक्षित सफर के लिए सार्वजनिक परिवहन की बजाय निजी साधनों के इस्तेमाल पर जोर दे रहे हैं। इस माहौल का फायदा उठाने के मकसद से ‘कारदेखो’ कंपनी ने ऐसी कारों के ‘ऑफलाइन स्टोर’ खोलने का फैसला किया है। कंपनी अगले छह महीने में ऐसे 50 स्टोर खोलेगी, जहां पुरानी कारें बेची जा सकेंगी।

कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोरोना से सामने आई चुनौती के बीच लोग अपना वाहन अपनाने पर ज्यादा जोर दे रहे हैं और ऐसे में विशेष रूप से दो से पांच लाख रुपये मूल्य की पुरानी या उपयोगशुदा (सेकंड हैंड) कारों की मांग तेजी से बढ़ी है। कार देखो ग्रुप के प्रमुख (ट्रस्ट मार्क स्टोर) शरद जायसवाल ने पीटीआई भाषा को बताया कि लोगों की बदली जरूरत को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने ‘ऑनलाइन’ के साथ-साथ अब पुरानी कारों के ‘ऑफलाइन’ यानी वास्तविक स्टोर खंड में उतरने का भी फैसला किया है।

इसके तहत उसने अपने पहला ‘कारदेखो गड्डी ट्रस्ट मार्क’ स्टोर दिल्ली में खोला है। कंपनी की मार्च 2021 तक ऐसे 50 स्टोर खोलने की योजना है। वहीं मार्च 2022 तक वह इसकी संख्या कुल 2000 करेगी, जिसमें 500 ट्रस्ट मार्क स्टोर व 1500 डीलर होंगे। उन्होंने बताया कि कंपनी ये स्टोर फ्रेंचाइजी मॉडल पर खोल रही है। इन स्टोर में बिकने वाली कारें कंपनी द्वारा प्रमाणित होंगी और कंपनी कई तरह की वारंटी भी अपनी तरफ से देगी।

जायसवाल ने कहा कि भारत में पुरानी या उपयोगशुदा कारों का सालाना बाजार 40 से 42 लाख वाहनों का है। विशेषकर कोरोना से उपजे संकट व चुनौतियों के बीच लोग खुद का वाहन खरीदने पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं और ऐसे में दो से पांच लाख रुपये मूल्य की हैचबेक पुरानी कारों की बहुत अच्छी मांग सामने आई है।

देश में पुरानी कारों के कुल बाजार में इस खंड का हिस्सा 50-60 प्रतिशत के बीच है जो अब बढ़कर 70-75 प्रतिशत होने की उम्मीद है। जायसवाल ने कहा कि दिल्ली, मुंबई के साथ साथ बेगलुरू, चेन्नई व अहमदाबाद पुरानी कारों के प्रमुख बाजार हैं जहां कंपनी अपने स्टोर व डीलर स्थापित करने पर ध्यान देगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कम दाम में ऑटोमेटिक कार खरीदनी है तो Alto K10 समेत ये 4 गाड़ियां हैं शानदार, जानें- फीचर्स और माइलेज
2 होंडा मोटर्स ने पेश किए शानदार ऑफर, कारों की खरीद पर 2.50 लाख रुपये तक का फायदा, लोन में भी राहत
3 रॉयल एनफील्ड ने फिर टाली Meteor 350 लॉन्चिंग, दिवाली से पहले आना मुश्किल, होंडा की CB 350 को देगी कड़ी टक्कर
IPL 2020 LIVE
X