ताज़ा खबर
 

Volvo की गाड़ियां अब होगी सबसे सुरक्षित कंपनी ने 180kmph तक स्पीड को किया सीमित, बिना ड्राइवर वाली गाड़ियों पर भी काम जारी!

बता दें, Volvo हमेशा से अपनी गाड़ियों में नए मार्डन तकनीक का इस्तेमाल करने के लिए जानी जाती है। हाल ही में कंपनी नेक्स्ट जेनरेशन कारों में खास लाइट डिटेक्शन एंड रैंगिंग (LiDAR) तकनीक का प्रयोग करेगी। इस तकनीक की मदद से वाहन को चलाने के लिए ड्राइवर की जरूरत नहीं होगी।

देखा जाए तो यह एक बेहद ही सरल उपाय है,

दुनिया में सबसे सुरक्षित वाहनों बनाने के लिए प्रसिद्व वाहन स्वीडिश कार निर्माता Volvo ने घोषणा की है कि अब उनकी सभी कारें अब स्पीड लॉक सिस्टम के साथ लॉन्च होंगी। जिसमें कंपनी की दुनिया भर में बिकने वाली सभी कारों की स्पीड 180kmph तक ही सीमित होगी। बता दें, सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए वोल्वो ने अपनी गाड़ियों में यह सिस्टम पेश करने की घोषणा की है। हालांकि इस घोषणा के साथ कंपनी ने बताया कि हर नए वोल्वो मॉडल के साथ अब एक ‘Care Key’ को भी दिया जाएगा। जिसके जरिए वाहन मालिक अपनी कार की गति को ओर भी सीमित कर सकेंगे।

स्वीडिश कार निर्माता का कहना है कि यह कदम यातायात सुरक्षा में सुधार करेंगे और लोगों को एक स्पीड तक सीमित रखने में कारगर होगा। दुनिया भर में हर साल कार दुर्घटना में लाखों लोग मारे जाते हैं और वोल्वो को उम्मीद है कि इस कदम से लोगों की स्पीड से कार चलाने की मानसिकता पर असर पड़ेगा। वॉल्वो कार्स सेफ्टी सेंटर के प्रमुख मालिन एकहोम ने कहा, कि “हम मानते हैं कि एक कार निर्माता की ज़िम्मेदारी है कि वह ट्रैफ़िक सुरक्षा को बेहतर बनाने में मदद करे। हमारी गति-सीमित करने वाली तकनीक इस सोच पर बिल्कुल फिट बैठती है। ”

बता दें, Volvo हमेशा से अपनी गाड़ियों में नए मार्डन तकनीक का इस्तेमाल करने के लिए जानी जाती है। हाल ही में कंपनी नेक्स्ट जेनरेशन कारों में खास लाइट डिटेक्शन एंड रैंगिंग (LiDAR) तकनीक का प्रयोग करेगी। इस तकनीक की मदद से वाहन को चलाने के लिए ड्राइवर की जरूरत नहीं होगी। कंपनी ने इस तकनीक के लिए फर्म लुमिनार के साथ साझेदारी कर रही है।

इसके सा​थ ही Volvo cars भारत मे लिए बिना ड्राइवर वाली गाड़ियों पर काम कर रही है। स्वीडिश कार निर्माता ने इस बात की घोषणा की है कि उसके नेक्सट जेनरेशन मॉडल्स को SPA2 तकनीक पर तैयार किया जाएगा। जो हाइवे पर ड्राइव सॉफ्टवेयर की मदद से अपने आप चलेंगी। वोल्वो ने घोषणा की है कि इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए वह ऑटोनोमस ड्राइविंग तकनीक को जल्द से जल्द तैयार करेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Hyundai Santro Vs Maruti Celerio: देखें 5 लाख की कीमत में कौन-सी गाड़ी आपके लिए होगी बेहतर, 23kmpl माइलेज के साथ मिलते हैं खास फीचर्स!
2 Renault Kwid से लेकर Hyundai Santro तक, ये हैं देश की टॉप 5 सबसे सस्ती ऑटोमेटिक कारें! कीमत 6 लाख रुपये से भी कम
3 Royal Enfield की बेस्ट सेलिंग बाइक BS6 Classic 350 खरीदना पड़ेगा महंगा! देखिए इस मोटरसाइकिल के सभी वैरिएंट की पूरी नई प्राइस लिस्ट