scorecardresearch

अब और मंहगी हो जाएंगी SUV और लग्जरी कार्स

लग्जरी सेस को मौजूदा 10 फीसद के रेट से 25 फीसद करने का फैसला लिया गया जिससे गाड़ियों के दाम में बढ़ोतरी देखी जा सकती है।

सेस बढ़ने से एसयूवी कारों की कीमतों में भी इजाफा होगा। (फाइल)
एसयूवी और लग्जरी गाड़ियां जल्द ही मंहगी हो सकती है। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के बाद अब जीएसटी सेस को 15 फीसद से 25 फीसद के आस-पास तक बढ़ाया जा सकता है। सेस बढ़ने के बाद बड़ी कारों के दामों में बढ़ोतरी होना तय माना जा रहा है। रविवार (6 अगस्त) को सेस बढ़ाने को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में बैठक हुई थी। बैठक में लग्जरी सेस को मौजूदा 10 फीसद के रेट से 25 फीसद करने का फैसला लिया गया। माना जा रहा है सेस बढ़ने का सबसे ज्यादा असर महिंद्रा एंड महिंद्रा, टोयोटा, मर्सीडीज बेंज और स्कोडा जैसी कंपनियों पर पड़ेगा। बढ़ा हुआ सेस उन कारों पर लगाया जाएगा जिनमें 10 या उससे ज्यादा पैसेंजर्स को ले जाने की क्षमता हो।

वहीं बैठक के फैसले के असर की झलक सोमवार को महिंद्रा एंड महिंद्रा और टाटा मोटर्स के शेयर्स पर भी देखने को मिली। शेयर बाजार में एम एंड एम के स्टॉक में 1.3% और टाटा मोटर्स के स्टॉक में 1.07% की गिरावट दर्ज की गई। फैसले को अमल में लाए जाने के बाद 4 मीटर से ज्यादा की लंबाई वाली कार्स पर इसका सीधा असर पड़ेगा। वहीं इस फैसले को लेकर बड़ी कार बनाने वाली निर्मातओं के बीच निराशा का माहौल है। मर्सीडीज-बेंज भारत के सीईओ ने कहा, “इस फैसले से हम काफी निराश है। हमारा मानना है कि इससे भारत में लग्जरी कार्स की ग्रोथ में अड़चनें खड़ी होंगी। यह हमारी नीतियों पर भी असर डालेगा।”

बता दें अभी जीएसटी के तहत एसयूवी कार्स 28 फीसद के सबसे बड़े ब्रैकेट में आती हैं और इस पर अधिक्तम टैक्स 40 फीसद तक हो सकता है (बिना सेस)। सब 4 मीटर की पेट्रोल, 1200 cc इंजन कार्स पर सेस 1% के करीब है। वहीं बड़ी और एसयूवी कार्स पर सेस मिलाकर अधिकतम जीएसटी रेट 43% का है। इसमें 10 फीसद के इजाफे के बाद यह 53% हो जाएगा।

पढें कार-बाइक (Carbike News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट