ताज़ा खबर
 

Royal Enfield Taurus: देश की इकलौती डीजल बुलेट! जो देती है 70 Kmpl का माइलेज

Royal Enfield ने 80 के दशक में डीजल बुलेट ‘Taurus’ को भारतीय बाजार में उतारा था। स्पीड के मामले में ये काफी कमजोर थी लेकिन इसका माइलेज आज के हीरो स्प्लेंडर से भी ज्यादा था।

Author May 15, 2019 6:36 PM
Royal Enfield Taurus के इंजन का आकार काफी बड़ा था।

Royal Enfield Diesel Bullet: बाइक लवर्स के बीच रॉयल एनफील्ड बुलेट माइलेज को लेकर हमेशा से चर्चा में रही है। हालांकि अब नई और आधुनिक तकनीकियों के आने के बाद माइलेज में काफी सुधार हो गया है और आप आसानी से 40 किलोमीटर प्रतिलीटर का माइलेज पा सकते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि देश में एक ऐसी बुलेट भी थी जो कि 70 किलोमीटर प्रतिलीटर का माइलेज देती थी। रॉयल एनफील्ड के पुराने बाइक्स के इस सीरीज में आज हम आपको Royal Enfield Taurus के बारे में बतायेंगे।

रॉयल एनफील्ड Taurus एक डीजल बाइक थी, और कंपनी ने इसे 80 के दशक में भारतीय बाजार में लांच किया था, जो कि साल 2,000 तक देश में बिकी और फिर इसे बंद कर दिया गया। ये देश में सबसे लंबे समय तक बेची जाने वाली डीजल बाइक थी, और उस दौर में इसे काफी पसंद भी किया जाता था।

कंपनी ने इस बाइक में 325 सीसी की क्षमता का सिंगल सिलिंडर युक्त डीजल इंजन प्रयोग किया था। जो कि महज 6.5 बीएचपी की पावर जेनरेट करता था। आज के समय की 350 सीसी की बुलेट 19.7 बीएचपी की पावर जेनरेट करती है। इस बाइक की टॉप स्पीड महज 65 किलोमीटर प्रतिघंटा थी। इतना ही नहीं इस बुलेट का वजन भी सामान्य 350 सीसी की पेट्रोल बुलेट के मुकाबले काफी ज्यादा था। इसका कुल वजन 196 किलोग्राम था वहीं, पेट्रोल बुलेट का वजन 168 किलोग्राम था।

रॉयल एनफील्ड ने जब इस बाइक का प्रोडक्शन बंद कर दिया था, उसके बाद भी इस बाइक का उत्पादन होता था। पंजाब की ट्रैक्टर निर्माता कंपनी सूरज ट्रैक्टर्स इस बाइक के डिजाइन में थोड़ा बदलाव कर इसका उत्पादन करती थी। क्योंकि अपने माइलेज के चलते ये बाइक लोगों के बीच काफी लोकप्रिय थी।

हालांकि, अभी भी रॉयल एनफील्ड के कुछ शौकीनों के पास ये डीजल Taurus मौजूद है। जिसे वो मॉडिफाई कर के आज भी ड्राइव करते हैं। अब देश में मारुति जैसी कंपनियां जहां डीजल कारों का उत्पादन बंद कर रही है ऐसे में डीजल बाइक की कल्पना करना भी मुश्किल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App