ताज़ा खबर
 

Royal Enfield बुलेट के क्लच और गियर का करते हैं ऐसे इस्तेमाल तो होगा भारी नुकसान

Royal Enfield की बाइक्स हाई मेंटेनेंस होती हैं। यदि आप बाइक पर जमी धूल को भी नजरअंदाज करते हैं तो इसका असर परफॉर्मेंस पर दिखेगा। इसके अलावा इसकी ड्राइविंग सामान्य बाइक्स से अलग होती है।

Author May 18, 2019 11:41 AM
Royal Enfield की ड्राइविंग सामान्य कम्यूटर बाइक्स से अलग होती है।

Royal Enfield बुलेट एक परफॉर्मेंस बाइक है और इसकी ड्राइविंग और मेंटेनेंस भी सामान्य बाइक्स से बिलकुल अलग है। हालांकि पुराने मॉडल के मुकाबले अब नई रॉयल एनफील्ड बाइक्स में कई बेहतरीन तकनीक को शामिल कर दिया गया है जो कि इसकी जटिलता को काफी हद तक कम कर देते हैं। लेकिन आज भी रॉयल एनफील्ड बुलेट की ड्राइविंग को लेकर लोग कई तरह की गलतियां करते हैं, जिनसे उनकी बाइक को भारी नुकसान होता है। तो आइये जानते हैं वो कौन सी बातें हैं जिन पर आपको विशेष ध्यान रखने की जरुरत है —

1. आज की रॉयल एनफील्ड बाइक्स में सेल्फ स्टार्ट सिस्टम दिया जा रहा है। ये एक बेहतर तकनीक भी है। लेकिन हर रोज सबसे पहले आपको अपनी बाइक किक से स्टार्ट करना चाहिएं। इससे बाइक का मैकेनिज्म पूरी तरह से एक्टिव मोड में आता है। बाद में भले ही आप सेल्फ स्टार्ट का प्रयोग करें।

2. राइड पर निकलने से पहले वार्म अप जरूर करें, इससे बाइक का इंजन अपने पूरे मोशन में आता है। वार्म अप के दौरान बाइक के इंजन के आवाज पर गौर करें, यदि एक्सट्रा आवाज आती है तो उसकी वजह जानने की कोशिश करें। यदि आप तत्काल अपनी बाइक को रोड पर लेकर निकल पड़ेंगे तो आप इन बातों पर गौर नहीं कर पाएंगे।

3. कई बार देखा जाता है कि कुल लोग ढलान पर ड्राइविंग के दौरान बाइक को न्यूट्रल में डाल देते हैं। ऐसी गलती बिलकुल न करें। ऐसा करने से इंजन ब्रेकिंग से आपका कंट्रोल छूट जाएगा और बाइक पूरी तरह से फ्री हो जाएगी, और आप केवल पहियों में लगने वाले ब्रेक पर निर्भर हो जाएंगे जिससे बाइक के स्कीड होने की संभावना बढ़ जाती है।

4. गियर शिफ्टिंग के दौरान स्पीड पर विशेष ध्यान दें, पहले गियर को 10 से 20 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार तक रखें। इसके बाद 20 से 30 तक दूसरा गियर, 30 से 40 तक तीसरा और 40 से 60 तक चौथे गियर का इस्तेमाल करें। इसके बाद स्पीड बढ़ने पर आप पांचवे गियर का इस्तेमाल करें। कभी भी कम स्पीड में ज्यादा गियर या फिर ज्यादा स्पीड में ​कम गियर का इस्तेमाल न करें।

5. रॉयल एनफील्ड एक हैवी बाइक है, इसका वजन सामान्य बाइक्स की तुलना में ज्यादा है। इसलिए इसकी ब्रेकिंग के दौरान खासा ध्यान रखें। कभी भी बाइक को न्यूट्रल कर के ब्रेक न लगाएं, इंजन ब्रे​किंग को हमेशा एक्टिव रखें।​ गियर कम करते हुए स्पीड कंट्रोल करें इसके बाद ब्रे​क अप्लाई करें। हालांकि अब नई रॉयल एनफील्ड बाइक्स में एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम दिया जा रहा है। लेकिन जिन बाइक्स में एबीएस नहीं है उन्हें खासा ध्यान देने की जरूरत है।

6. हाफ क्लच का प्रयोग कत्तई न करें, ज्यादातर नए चालकों में ये कमी देखने को मिलती है कि, वो क्लच को हल्का से दबाए रखते हैं। उन्हें लगता है कि स्पीड कम होने पर बाइक बंद हो जाएगी। बता दें कि, अब रॉयल एनफील्ड बहुत एडवांस हो चुकी है और इसका मैकेनिज्म हर सेकेंड एक्टिव रहने वाला बनाया गया है। क्लच को दबाए रखने से क्लच प्लेट के खराब होने का डर होता है, ऐसा बिलकुल न करें। जब स्पीड एक दम कम हो जाए तब क्लच का प्रयोग करें।

7. तेज रफ्तार में भूलकर भी गियर न बदलें, पहले एक्सलेटर को कम करें फिर सावधानी पूर्वक क्लच दबाते हुए गियर शिफ्ट करें। इससे गियर बॉक्स और क्लच प्लेट दोनों सुरक्षित रहेंगे। इसके अलावा इंजन पर भी इसका कोई बुरा असर नहीं पड़ेगा।

8. यदि आप शहर के ट्रैफिक में ड्राइव कर रहे हैं तो कोशिश करें कि दूसरे गियर में रहें। यदि ब्रे​क लगाने की जरूरत है तो सबसे पहले ब्रेक का इस्तेमाल न करें। इस दौरान एक्सलेटर एकदम कम करें फिर हल्का सा क्लच दबाकर ब्रेक अप्लाई करें। लो स्पीड में पहले क्लच के प्रयोग से कोई नुकसान नहीं होता है।

9. रॉयल एनफील्ड बाइक्स को ड्राइव करते समय, सही पोजिशन में सीट पर बैठें और मोड पर बाइक को झुकाते समय अपने शरीर को झुकने की दिशा में कत्तई न रखें। क्योंकि बाइक और आपका दोनों का वजन बाइक को गिरा सकता है। स्पीड स्लो करते हुए और कम गियर में बाइक को कॉर्नर पर झुकाएं।

10. रॉयल एनफील्ड की बाइक्स हाई मेंटेनेंस होती हैं। यदि आप बाइक पर जमी धूल को भी नजरअंदाज करते हैं तो इसका असर परफॉर्मेंस पर दिखेगा। हमारा मतलब बाइक के चेन से है। मैनुअल के अनुसार सर्विसिंग करवाएं, बाइक पुरानी होने पर तकरीबन हर 2,500 से 3,000 किलोमीटर के बीच बाइक की सर्विसिंग करवानी चाहिएं। चेन, आयल, सस्पेंशन और इंजन की आवाज पर हमेशा ध्यान रखें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App