Renault recall kwid for steering problem and honda recall honda city, honda jazz and honda accord for airbag problem - रेनॉ की क्विड समेत इन कारों में आईं खराबियां, कंपनी ने मंगवाईं वापस - Jansatta
ताज़ा खबर
 

रेनॉ की क्विड समेत इन कारों में आईं खराबियां, कंपनी ने मंगवाईं वापस

Renult Kwid, Honda City: कार मालिक नजदीकी रेनो के सर्विस सेंटर पर जाकर कार में आने वाली दिक्कत को ठीक करा सकते हैं। कंपनी की तरफ से यह नहीं बताया गया है कि किस साल में बने कौन से मॉडल्स को वापस बुलाया गया है।

भारत में क्विड में 54bhp वाला 0.8 लीटर इंजन और 68hp वाला 1.0 लीटर इंजन दिया गया है।

कारों में खराबी आने के कारण रेनो ने अपनी सबसे सस्ती कार क्विड को वापस मंगाया है। क्विड की स्टीयरिंग में आ रही दिक्कत को दूर करने के लिए रिकॉल किया गया है। इसके अलावा होंडा ने भी अपनी तीन कारों को रिकॉल किया है। इसमें होंडा सिटी, होंडा एकॉर्ड और होडा जैज शामिल हैं। रेनो का कहना है कि कार मालिकों को नोटिस भेज दिया गया है। कार मालिक नजदीकी रेनो के सर्विस सेंटर पर जाकर कार में आने वाली दिक्कत को ठीक करा सकते हैं। इसके लिए कंपनी कोई चार्ज नहीं लेगी। इसमें आने वाले पूरे खर्च को कंपनी देगी। हालांकि कंपनी की तरफ से यह नहीं बताया गया है कि किस साल में बने कौन से मॉडल्स को वापस बुलाया गया है।

भारत में क्विड में 54bhp वाला 0.8 लीटर इंजन और 68hp वाला 1.0 लीटर इंजन दिया गया है। दोनों मॉडल्स में समान इलेक्ट्रॉनिक सेटप दिए गए हैं, लेकिन कंपनी जिन मॉडल्स को रिकॉल कर रही है वह सिर्फ 0.8 लीटर इंजन वाले मॉडल्स ही हैं। कार बनाने वाली फ्रांस की कंपनी ने क्विड का 2018 स्पेशल एडिशन लॉन्च किया था। इनमें भी पुराने वर्जन वाले ही इंजन दिए गए हैं। इसके अलावा इसमें पार्किंग सेंसर और नए एक्सटीरियर ग्राफिक्स भी दिए गए हैं।

होंडा ने टकाता एयरबैग में दिक्कत की वजह से अपनी 22,834 गाड़ियों को वापस बुलाया है। इसमें 510 होंडा एकॉर्ड, 240 होंडा जैज और 22,084 होंडा सिटी शामिल हैं। कंपनी के मुताबिक साल 2013 में बनी होंडा एकॉर्ड, जैज और सिटी सेडान के एयरबैग इंफलेक्टर में खामी का पता चला है। एयरबैग इंफलेक्टर खराब होने की वजह से हादसा होने पर एयरबैग खुलने में ज्यादा समय लग सकता है, जिसकी वजह से पैसेंजर को नुकसान हो सकता है। आपकी कार में यह समस्या है या नहीं, इसके बारे में आप अपनी गाड़ी के व्हीकल आइडेंटी नंबर (वीआईएन) को कंपनी की ऑफिशियल वेबसाइट पर डालकर पता कर सकते हैं। कंपनी के मुताबिक इस दिक्कत को फ्री में सही किया जाएगा। इसके लिए कंपनी के डीलर ग्राहकों से संपर्क कर उन्हें इसकी जानकारी दे रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App