ताज़ा खबर
 

TATA ही नहीं, महिंद्रा से भी बिगड़े हैं अमेरिकी कंपनी के कारोबारी रिश्ते, डील भी हुई है कैंसिल

अमेरिका की कारमेकर कंपनी फोर्ड से कारोबारी रिश्ते बिगड़ने की वजह से टाटा और महिंद्रा के डील कैंसिल हो चुके हैं।

ford, tata, tata motorsअमेरिका की कंपनी फोर्ड से महिंद्रा और टाटा की डील कैंसिल हो चुकी है (Photo-Indian Express )

Tata Group,  Mahindra News: देश के ऑटो सेक्टर में टाटा और महिंद्रा का खास दबदबा है। अमेरिका की कारमेकर कंपनी फोर्ड से कारोबारी रिश्ते बिगड़ने की वजह से टाटा और महिंद्रा के डील कैंसिल हो चुके हैं।

दरअसल, फोर्ड मोटर और भारतीय कार निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा ने पिछले साल एक ज्वाइंट वेंचर की घोषणा की थी। इसके तहत महिंद्रा को भारत में फोर्ड के ऑपरेशन का अधिग्रहण करना था जबकि अमेरिकी ब्रांड को महिंद्रा को कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में प्रवेश करने में मदद करनी थी। हालांकि, साल के अंत तक दोनों वाहन निर्माताओं ने ज्वाइंट वेंचर को समाप्त करने का फैसला किया।

दोनों कंपनियों ने कोविड-19 महामारी के कारण उपजी चुनौतियों को इसकी वजह बताया। फोर्ड और महिंद्रा ने तब बताया था कि करीब 15 महीनों में ग्लोबल आर्थिक परिस्थितियों में जो बदलाव हुए हैं, उन्हें देखते हुए पूंजी खर्च करने की प्राथमिकताओं पर दोबारा विचार करने पर मजबूर होना पड़ा है। (ये पढ़ें—जब अंबानी की डील पर बिड़ला परिवार को हुई आपत्ति)

टाटा और फोर्ड के बीच भी आई थी दिक्कत: फोर्ड और टाटा के बीच भी मनमुटाव आ चुका है। ये मामला काफी पुराना है। दरअसल, रतन टाटा अपने कार कारोबार को बेचना चाहते थे, इसे खरीदने में फोर्ड ने दिलचस्पी दिखाई। इस डील के लिए रतन टाटा को अमेरिका में फोर्ड मोटर्स के हेडक्वार्टर पर बुलाया गया।

हेडक्वार्टर में करीब तीन घंटे तक की मीटिंग के दौरान फोर्ड के अधिकारियों का व्यवहार थोड़ा अपमानजनक रहा। अपमान से रतन टाटा आहत हुए और उन्होंने डील कैंसिल कर दी। ये किस्सा टाटा के एक शीर्ष अधिकारी प्रवीण कादले ने एक कार्यक्रम के दौरान बताया था। प्रवीण उन लोगों में से हैं जो रतन टाटा के साथ डील के लिए गए थे।

रतन टाटा ने लिया बदला: हालांकि, कुछ सालों बाद रतन टाटा ने इस अपमान का बदला भी लिया। दरअसल, साल 2008 की मंदी से जूझ रही फोर्ड मोटर्स के जगुआर और लैंड रोवर ब्रांड्स को बेचने का फैसला किया। इसे खरीदने के लिए रतन टाटा सबसे आगे आए और उन्होंने कब्जा जमाया। इस तरह से रतन टाटा ने अपने अपमान का बदला लिया था। (ये पढ़ें—क्या करते हैं मुकेश अंबानी के समधी)

Next Stories
1 Mahindra: 25 हजार की डाउनपेमेंट पर घर ले जाएं माइक्रो एसयूवी KUV100, हर महीने चुकानी होगी इतनी EMI
2 Honda ने वापस मंगाई 77 हजार से ज्यादा गाड़ियां, जानिए आपकी कार इसमें है या नहीं
3 Maruti ने बढ़ाई कीमतें, लेकिन पुराने दाम पर ही मिल रही कंपनी की ये 2 कार
यह पढ़ा क्या?
X