X

Royal Enfield कंपनी से नाराज शख्स ने कूड़े के ढेर में फेंकी बुलेट, पढ़ें पूरी कहानी

करीब ढाई लाख रुपये की खास मोटरसाइकिल को कूड़े के ढेर में फेंकने के कारण इसका मालिक सोशल मीडिया में सुर्खियां बटोरने लगा। इंडियन एक्सप्रेस ने ऐसा करने वाले धीरज जरुआ से नाराजगी का कारण जानना चाहा। धीरज जरुआ ने बताया कि उन्होंने दो दिनों तक पेगासस एडीशन को बुक करने की तैयारी की थी...

Royal Enfield Classic 500 Pegasus की लिमिटेड एडीशन 1000 मोटरसाइकिलों में से केवल 250 भारत के लिए लॉन्च की गईं और ऑनलाइन बिक्री में कुछ ही सेकेंड्स में खरीद ली गईं लेकिन इसके एक मालिक ने मोटरसाइकिल को कूड़े में फेंक दिया। करीब ढाई लाख रुपये की खास मोटरसाइकिल को कूड़े के ढेर में फेंकने के कारण इसका मालिक सोशल मीडिया में सुर्खियां बटोरने लगा। इंडियन एक्सप्रेस ने ऐसा करने वाले धीरज जरुआ से नाराजगी का कारण जानना चाहा। धीरज जरुआ ने बताया कि उन्होंने दो दिनों तक पेगासस एडीशन को बुक करने की तैयारी की थी। कंपनी की वेबसाइट क्रैश होने के बाद रॉयल एनफील्ड ने इसकी ऑनलाइन बिक्री के लिए दूसरी तारीख की घोषणा कर दी। अगले कुछ ही दिनों में जब रॉयल एनफील्ड ने इसका क्लासिक सिग्नल्स 350 एडीशन लॉन्च किया तो पेगासस की विशिष्टता को लेकर बना आकर्षण खत्म हो गया। क्लासिक सिग्नल्स 350 एडीशन भी पेगासस की तरह सेना से जुड़ाव रखती है और पेगासस के मुकाबले उसका डुअल चैनल एबीएस (एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम) लगभग 60 हजार रुपये कम कीमत का है।

धीरज के मुताबिक इन कारणों ने उन्हें निराश किया और उन्हें लगता है कि कंपनी ने उन्हें ठगा है। धीरज ने बताया कि वह पेगासस खरीदने वाले उन लोगों के समूह में से हैं जिन्होंने इन कारणों के चलते 25000 रुपये की टोकन राशि देने के बावजूद पेगासस की डिलिवरी लेने से इनकार कर दिया। हालांकि यह साफ नहीं हो पाया कि पेगासस खरीदने वाले दूसरे लोग धीरज का समर्थन करते हैं या नहीं। धीरज ने बताया कि जब तक कंपनी सही उपाय नहीं लाती तब तक वह कूड़े के ढेर से अपनी मोटरसाइकिल वापस नहीं लाएंगे। मुआवजे के तौर पर धीरज चाहते हैं कि रॉयल एनफील्ड को उनकी मोटरसाइकिल में डुअल चैनल एबीएस इंस्टॉल करना चाहिए और क्लासिक सिग्नल्स एडीशन की ईंधन टंकी पर लगे स्टेंसिल नंबरों को हटाना चाहिए ताकि पेगासस एडीशन की विशिष्टता अछूती रहे।

धीरज जरुआ के दावों से इतर गौर करें तो पेगासस अपनी अलग विशिष्टता इसलिए रखती है क्योंकि रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी ने इसे स्पेशल लाइसेंस के अंतर्गत बनाया है और इसके लिए विशेष प्रीमियम भी भरा है, जिसकी वजह है सिग्नल्स एडीशन के मुकाबले इसकी कीमत कुछ ज्यादा है। पेगासस की ईंधन टंकी पर लगी स्टेंसिल नंबर प्लेट भी सिग्नल्स एडीशन से अलग और खास दिखाई देती है। सबसे खास बात यह है कि केवल पेगासस बाइक मालिकों के लिए ही इसके कपड़े और एक्सेसरीज उपलब्ध हैं। पेगासस का इंजन बड़ा है और वहीं सिग्नल्स एडीशन लिमिटेड एडीशन नहीं है।