ताज़ा खबर
 

NHAI ने टोल प्लाजा पर लागू किए नए नियम, 100 मीटर से लंबी हुई लाइन, तो नहीं देना होगा टोल टैक्स

टोल प्लाजा पर टैक्स को लेकर सरकार ने नया नियम लागू किया है जिससे वहां आने वाले वाहनों को फायदा होगा।

toll plaza पर नए नियम लागू।

भारत में हाईवे पर यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए केंद्र सरकार ने फास्ट टैग प्रणाली लागू की थी ताकि वहां से गुजरने वाले वाहनों टोल टैक्स देने के लिए लंबी कतारों में न लगना पड़े। जिसके बाद अब केंद्र सरकार ने टोल प्लाजा पर कुछ और नए नियम लागू कर दिए हैं।

नए नियम के मुताबिक प्रत्येक टोल प्लाजा पर वाहन के द्वारा टोल टैक्स दिए जाने के समय को बदला गया है जिसमें ये समय 10 सेकेंड कर दिया गया है। अगर टोल प्लाजा पर किसी वाहन को 100 मीटर से ज्यादा लंबा जाम मिलता है तो वाहनों वाहनों से टोल टैक्स नहीं वसूला जाएगा।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण यानी एनएचएआई ने इन बुधवार को इन नए नियमों की घोषणा करते हुए बताया कि जब तक जाम 100 मीटर का रहेगा तब तक किसी वाहन से टोल टैक्स नहीं लिया जाएगा। जाम जब तक 100 मीटर से कम नहीं हो जाता तब तक टैक्स नहीं लिया जाएगा।

इस नए नियम को लागू करने के लिए प्रत्येक टोल प्लाजा पर टोल लाइन में 100 मीटर की दूरी पर पीली लाइन खींची जाएंगी। जिसके बाद टोल प्लाजा पर वाहनों की कतार लगती है जो 100 मीटर तक पहुंचती है तो उन वाहनों से टैक्स नहीं वसूला जाएगा।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण का कहना है कि फास्टैग अनिवार्य होने के बाद ज्यादातर टोल प्लाजा में वाहनों को इंतजार नहीं करना पड़ता है जिसके चलते 100 मीटर की लंबी लाइनें नहीं लगती।

फास्टैग के जरिए देश भर के सभी टोल प्लाजा पर टैक्स ऑनलाइन ही वसूला जा रहा है। लेकिन इसके बाद भी प्राधिकरण के पास वाहन चालकों की ढेरों शिकायतें मिली हैं कि टोल प्लाजा पर लंबी कतारें लगती हैं जिसके बाद सरकार ने यात्रियों की परेशानी को समझकर ये नए टोल प्लाजा नियम बनाए हैं। (ये भी पढ़ेंभारत की टॉप 5 CNG कार जो दिलाएंगी पेट्रोल के बढ़ते दाम से आजादी)

इसके साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने कहा है कि अगर किसी कारण से टोल प्लाजा पर वाहनों की लंबी लाइन लग जाती है जिसमें अगर ये लाइन 100 मीटर से ज्यादा दूरी की हो जाती है तो वाहनों से तक बत टैक्स नहीं लिया जाएगा जब तक वहां आने वाली गाड़ियों की लाइन 100 मीटर के अंदर नहीं पहुंच जाती।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने टोल प्लाजा पर लगने वाले लंबे जाम के चलते इस फास्टैग की व्यवस्था को लागू किया था। ताकि वहां आने वाले वाहनों का तेल और पैसा दोनों को बचाया जा सके।

फास्टैग अनिवार्य होने के बाद से ही टोल प्लाजा पर होने वाले टैक्स कलेक्शन 99 फीसदी तक पहुंच गया है। जिसके चलते केंद्र सरकार द्वारा टोल टैक्स पर अधिक सुविधाजनक टोल टैक्स बनाने पर जोर दिया जा रहा है और इस को पूरा करने के लिए अगले 10 सालों का लक्ष्य तय किया गया है।

Next Stories
1 देश में टेस्ला की कार लॉन्चिंग का इंतजार, साल 2025 तक इतना बड़ा होगा इलेक्ट्रिक व्हीकल का मार्केट!
2 जल्द लॉन्च होगी Force Gurkha SUV, मिलेगी Mahindra Thar को टक्कर, पढ़ें पूरी डिटेल
3 Tata और Mahindra इस साल लॉन्च करेंगी इलेक्ट्रिक कारों की बड़ी रेंज, पढ़ें पूरी डिटेल
ये पढ़ा क्या?
X