ताज़ा खबर
 

8 साल के बच्चे ने चलाई बाइक तो पिता का कट गया 30 हजार रुपये का चालान! जानें क्या है मामला

Motor Vehicle Act के अनुसार गियरलेस बाइक या स्कूटर की ड्राइविंग के लिए चालक की उम्र कम से कम 16 साल होनी चाहिएं। इसके अलावा गियर वाले बाइक या फिर चारपहिया वाहन की ड्राइविंग के लिए चालक की उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिएं।

Motor Vehicle Act, 8 year old child driving bike, child driving bike in lucknow, lucknow viral video, child gets fine, traffic rule and fineसोशल मीडिया के माध्यम से पहली बार किसी का चालान कटा है। Photo: YouTube/UP Tak

New Motor Vehicle Act के लागू होने बाद देश भर में ट्रैफिक नियमों को लेकर सख्ती बरती जा रही है। ज्यादातर लोग ट्रैफिक नियमों का पालन कर रहे हैं इसके अलावा वाहनों से लेकर ड्राइविंग लाइसेंस जैसे दस्तावेजों को भी दुरूस्त किया जा रहा है। लेकिन अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जो यातायात नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश से सामने आया है जहां पर एक लापरवाह पिता ने अपने महज 8 साल के बेटे को बाइक चलाने को दे दिया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस मामले में ट्रैफिक पुलिस ने बच्चे के पिता पर 30,000 रुपये का जुर्माना किया है।

दरअसल, ये मामल उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के काकोरी थाना क्षेत्र का है। जहां पर महज 8 साल के एक बच्चे का बाइक चलाते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। जानकारी के मुताबिक ये बच्चा जिस बाइक को चला रहा था, उस पर दूध की बाल्टियां लदी हुई थीं। इसी दौरान किसी ने उस बच्चे का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

वीडियो को संज्ञान में लेते हुए ट्रैफिक पुलिस ने तत्काल कार्यवाई करते हुए बच्चे के पिता के खिलाफ 30,000 रुपये का जुर्माना किया है। इसमें नाबालिक द्वारा वाहन चलाने पर 25,000 रुपये का फाइन और नाबालिक को वाहन चलाने को देने के लिए अभिभावक या पिता पर 5,000 रुपये का जुर्माना शामिल है। इतना ही नहीं, नए मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार इस अपराध के लिए नाबालिक के पिता या अभिभावक को 3 साल की सजा भी हो सकती है।

फिलहाल ये मामला कोर्ट के सुपुर्द कर दिया गया है। यदि बच्चे के पिता पर आरोप सिद्ध होता है तो उसे 30,000 रुपये बतौर जुर्माना या फिर 3 साल का कारावास हो सकता है। बच्चे के पिता की लापरवाही का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उक्त बच्चे का पांव भी बाइक पर बैठने के बाद जमीन तक नहीं पहुंच रहा है और उसे बाइक चलाने को दे दी गई है।

ऐसा कई बार देखा जाता है कि लोग अपने बच्चे को ड्राइविंग के लिए वाहन दे देते हैं। अब नए मोटर व्हीकल एक्ट में ऐसे अपराध के लिए कड़े जुर्माने का प्रावधान किया गया है। फिलहाल पुलिस ने बाइक को अपने कब्जे में ले लिया है और कानूनी कार्यवाही की जा रही है।

बता दें कि, अंडरएज ड्राइविंग और राइडिंग के लिए कड़ा कानून बनाया गया है। मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार गियरलेस बाइक या स्कूटर की ड्राइविंग के लिए चालक की उम्र कम से कम 16 साल होनी चाहिएं। इसके अलावा गियर वाले बाइक या फिर चारपहिया वाहन की ड्राइविंग के लिए चालक की उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिएं।

Next Stories
1 UP: सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस (DL) के नियम में किया बड़ा बदलाव! अब किसी भी जिले से कर सकेंगे अप्लाई
2 Alto से भी आधी कीमत में Maruti बेच रही है Wagon R और Ertiga जैसी कारें! शरुआती कीमत महज 1.25 लाख रुपये, बची हैं कुछ यूनिट्स
3 Maruti S-Presso: इंतजार खत्म! लांच हो गई देश की सबसे सस्ती मिनी SUV, देगी 21 Kmpl का माइलेज, कीमत महज 3.69 लाख रुपये
ये पढ़ा क्या?
X