ताज़ा खबर
 

घर पर भूल गए हैं ड्राइविंग लाइसेंस (DL) और गाड़ी के कागजात तो भी नहीं कटेगा आपका चालान! अपनायें ये तरीका

DigiLocker एक तरह का एप और वर्चुअल लॉकर है जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई 2015 में लॉन्च किया था। इस एप में आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट, व्हीकल इंश्योरेंस, पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी या किसी भी तरह का सरकार प्रमाण पत्र स्टोर कर सकते हैं।

Motor Vehicle Act 2019, how to sign up in DigiLocker , what is DigiLocker, driving licence in DigiLocker, vehicle registration paper in DigiLocker, new traffic rule 2019, new traffic fines in up, new traffic fines in mp, how to save dl in DigiLockerसांकेतिक तस्वीर (फोटो-PTI)

Motor Vehicle Act 2019: देश भर में इस समय सबसे बड़ी चर्चा नया मोटर व्हीकल एक्ट बना हुआ है। बीते 1 सितंबर से देश भर में इस नए कानून को लागू कर दिया गया है जिससे ट्रैफिक नियमों का उलंघन करने पर कड़ा जुर्माना वसूला जा रहा है। चालान के तौर पर जुर्माने की राशि 10 गुना तक बढ़ चुका है। ऐसे में यदि आप जल्दबाजी में अपना ड्राइविंग लाइसेंस और अन्य जरूरी दस्तावेज घर पर भूल जाते हैं तो इस मामले में DigiLocker आपकी मदद करेगा, आइये जानते हैं कैसे —

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा पिछले साल केंद्रीय मोटर वाहन नियमों, 1989 में एक संशोधन किया गया। जिसमें सरकार ने इस खंड को हटा दिया कि मोटर चालकों को वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र, बीमा कागज, प्रदूषण प्रमाणपत्र और ड्राइविंग लाइसेंस जैसे दस्तावेजों की हार्ड कॉपी साथ रखने की आवश्यकता है। नए नियमों के अनुसार नागरिक इन दस्तावेजों को ट्रैफिक पुलिस द्वारा मांगे जाने पर इलेक्ट्रॉनिक रूप में भी प्रदर्शित कर सकते हैं।

नए नियम के अनुसार वाहन चालक डिजिटल दस्तावेजों को अपने मोबाइल फोन या किसी अन्य डिवाइस में ​संग्रहित कर सकते हैं, जिसे वो समय पड़ने पर प्रदर्शित कर सकें। डिजिटल दस्तावेजों का मतलब को अपने मोबाइल में रखने का ये मतलब नहीं है कि आप उसका फोटो या स्कैन कॉपी फोन में रखें। बल्कि इसके लिए आपको इन्हें डिजीलॉकर या mParivahan ऐप पर संग्रहीत करना होगा, जो कि सरकार द्वारा मान्य है।

क्या है डिजीलॉकर (DigiLocker): आपको बता दें कि ये एक तरह का एप और वर्चुअल लॉकर है। इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई 2015 में लॉन्च किया था। इस एप में अपना अकाउंट शुरु करने के लिए आपको अपने आधार कार्ड के माध्यम से साइन अप करना होगा। इस ऐप में आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट, व्हीकल इंश्योरेंस, पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी या किसी भी तरह का सरकार प्रमाण पत्र स्टोर कर सकते हैं। बता दें कि, इस एप के प्रयोग के लिए आपके पास आधार कार्ड होना ​अनिवार्य है।

उल्लेखनीय है कि, DigiLocker प्लेटफ़ॉर्म इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है, जबकि mParivahan मोबाइल ऐप सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराया जाता है। सरकार नए मोटर व्हीकल एक्ट के जरिए देश भर में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को कम करने की योजना बना रही है। यही कारण है कि ट्रैफिक नियमों का उलंघन करने पर इतना भारी जुर्माना लिया जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Maruti Alto से भी कम दाम में कंपनी बेच रही है Dzire और WagonR जैसी कारें! जानें कैसे खरीदें
2 नई BS-6 इंजन वाली Honda Activa 125 देगी 13 प्रतिशत तक ज्यादा माइलेज! जानिए इस स्कूटर से जुड़ी 5 खास बातें
3 Honda Activa 125 BS6 Price, Features: देश का पहला BS6 टू-व्हीलर एक्टिवा 125 लॉन्च, पहले के मुकाबले बचाएगा अधिक पेट्रोल!
ये पढ़ा क्या?
X