ताज़ा खबर
 

Maruti Suzuki की हिस्सेदारी अप्रैल-अगस्त में घटी, Hyundai, Mahindra को लाभ

चालू वित्त वर्ष में बिक्री में गिरावट के बावजूद कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 15.59 प्रतिशत से बढ़कर 18.36 प्रतिशत पर आ गयी। हुंदै मोटर इंडिया लि. के राष्ट्रीय बिक्री प्रमुख विकास जैन ने कहा, ‘‘हुंदै मोटर इंडिया के लिये 2019 मील का पत्थर है।

Author Updated: September 15, 2019 5:36 PM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

वाहन बनाने वाली मारुति सुजुकी इंडिया और टाटा मोटर्स की यात्री वाहन खंड में घरेलू बाजार हिस्सेदारी इस साल अप्रैल-अगस्त में कम हुई है। हालांकि हुंदै और महिंद्रा एंड महिंद्रा की बिक्री इसी अवधि में बढ़ी। उद्योग संगठन सियाम के आंकड़े के अनुसार कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की बाजार हिस्सेदारी में अप्रैल-अगस्त के दौरान 2 प्रतिशत से अधिक की कम हो कर 50 प्रतिशत से नीचे आ गयी। कंपनी ने आलोच्य अवधि में 5,55,064 वाहन बेचे जबकि इससे पूर्व वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त के दौरान कंपनी ने 7,57,289 वाहन बेचे थे। इससे कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 52.16 प्रतिशत से घटकर 49.83 प्रतिशत पर आ गयी।

इस बारे में संपर्क किये जाने पर एमएसआई के कार्यकारी निदेशक (विपणन और बिक्री) शंशाक श्रीवास्तव ने पीटीआई भाषा से कहा कि कार और वैन का प्रदर्शन अच्छा रहा लेकिन यूटिलिटी वाहनों की बिकी में गिरावट दर्ज की गयी है। उन्होंने कहा, ‘‘इसका कारण एर्टिंगा की आपूर्ति में बाधा है। इसकी प्रतीक्षा अवधि लंबी है।’’ श्रीवास्तव ने कहा कि इसके अलावा ग्राहकों की रूचि पेट्रोल से चलने वाले एसयूवी खंड की ओर बढ़ रही है जहां फिलहाल कंपनी के पास संस्करण नहीं है। कंपनी की चालू वित्त वर्ष में बीएस-6 मानकों पर आधारित विटारा ब्रेजा और एस-क्रास पेश करने की योजना है।

इसी प्रकार, टाटा मोटर्स की बिक्री चालू वित्त वर्ष में अबतक 60,093 इकाई रही जो पिछले साल 98,702 इकाई थी। कंपनी की बाजार हिस्सेदारी वालू वित्त वर्ष में 1.39 प्रतिशत घटकर 5.41 प्रतिशत रही जो इससे पिछले साल 6.79 प्रतिशत थी। वहीं दूसरी तरफ हुंदै मोटर इंडिया की बाजार हिस्सेदारी चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त के दौरान 2.77 प्रतिशत बढ़ी है। कंपनी के वाहनों की बिक्री आलोच्य अवधि में 2,03,729 इकाई रही जो इससे पूर्व वित्त वर्ष के अप्रैल-अगस्त के दौरान 2,26,396 इकाई थी।

चालू वित्त वर्ष में बिक्री में गिरावट के बावजूद कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 15.59 प्रतिशत से बढ़कर 18.36 प्रतिशत पर आ गयी। हुंदै मोटर इंडिया लि. के राष्ट्रीय बिक्री प्रमुख विकास जैन ने कहा, ‘‘हुंदै मोटर इंडिया के लिये 2019 मील का पत्थर है। हमने तीन अलग-अलग खंडों में तीन उत्पाद पेश किये…नये वाहनों को बाजारों में उतारने से ग्राहकों का आकर्षण बढ़ा है, लोग शोरूम में आ रहे हैं और बाजार हिस्सेदारी बढ़ी है।’’ इसी प्रकार, मंिहद्रा एंड मंिहद्रा ने चालू वित्त वर्ष में अबतक 89,733 वाहन बेचे जबकि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2018-19 की इसी अवधि में कंपनी ने 1,00,015 वाहन बेचे। इसके बावजूद कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 1.19 प्रतिशत बढ़कर 8.08 प्रतिशत हो गयी।

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर की बिक्री चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त के दौरान 53,977 इकाई रही जो एक साल पहले इसी तिमाही में 67,051 इकाई थी। कंपनी की बाजार हिस्सेदारी इस दौरान 4.62 प्रतिशत से बढ़कर 4.86 प्रतिशत हो गयी। आंकड़ों के अनुसार इस दौरान रेनो इंडिया, स्कोडा आॅटो, फाक्सवैगन इंउयिा की बाजार हिस्सेदारी भी बढ़ी।

होंडा कार्स की बिक्री चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-अगस्त के दौरान 51,569 इकाई रही। पिछले साल कंपनी ने इस दौरान 79,599 वाहन बेचे थे। कंपनी की बाजार हिस्सेदारी पिछले साल की इसी अवधि के 5.48 प्रतिशत से घटकर 4.64 प्रतिशत पर आ गयी। इसी प्रकार, फोर्ड इंडिया की बाजार हिस्सेदारी पिछले साल अप्रैल-अगस्त के दौरान 2.81 प्रतिशत से घटकर 2.7 प्रतिशत पर आ गयी। कंपनी के वाहनों की बिक्री इस दौरान 30,010 इकाई रही जो एक साल पहले इसी अवधि में 40,799 इकाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Maruti के पेट्रोल कारों की कुल बिक्री में 70 प्रतिशत BS-6 मॉडल! जानिए क्या है वजह
2 KTM के शौकीनों को झटका! कंपनी ने Duke 125 और RC 125 के दाम बढ़ायें, जानिए नई कीमत
3 TVS Sport बनी सबसे ज्यादा ऑन रोड माइलेज देने वाली बाइक! एशिया बुक में दर्ज हुआ रिकॉर्ड, कीमत महज 39,900