ताज़ा खबर
 

कोरोना काल में लौटे पुरानी कारों के दिन, डील से पहले इन कागजी कामों को निपटाना न भूलें, वरना होगी मुश्किल

पुरानी कारों को बेचने वाली चर्चित वेबसाइट OLX इंडिया के अनुसार उसके प्लेटफार्म पर इस साल अगस्त में यूज्ड कारों की डिमांड इस साल फरवरी के मुकाबले 133 फीसदी ज्यादा रही। हालांकि सप्लाई ग्रोथ सिर्फ 112 फ़ीसदी ही रही।

Author Edited By यतेंद्र पूनिया नई दिल्ली | Updated: October 7, 2020 12:21 PM
used carsकिसी भी पुरानी कार को खरीदने से पहले जरूर कर लें यह काम

कोरोना महामारी के कारण पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को नुकसान उठाना पड़ रहा है। भारत में भी कई औद्योगिक क्षेत्रों को तगड़ा झटका लगा है पर कुछ सेक्टर्स को कोरोना महामारी का फायदा होता भी दिख रहा है। कोरोना काल में भारत में पुरानी गाड़ियों की मांग बढ़ी है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि ढुलमुल आर्थिक हालात, घटती बचत पुरानी कारों की बढ़ती मांग के पीछे एक अहम कारण है।
इसके अलावा एक्सपर्ट मान रहे हैं कोरोनावायरस के कारण लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट से यात्रा करने से बच रहे हैं, इस वज़ह से भी पुरानी कारों की मांग में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।

पुरानी कारों को बेचने वाली चर्चित वेबसाइट OLX इंडिया के अनुसार उसके प्लेटफार्म पर इस साल अगस्त में यूज्ड कारों की डिमांड इस साल फरवरी के मुकाबले 133 फीसदी ज्यादा रही। हालांकि सप्लाई ग्रोथ सिर्फ 112 फ़ीसदी ही रही। OLX इंडिया के अनुसार महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक यूज्ड लग्जरी कार की लिस्ट में ऊपर रहे। अगर आप भी पुरानी कार खरीदने जा रहे हैं तो डील फाइनल करने के बाद ये जरूरी कागजी काम निपटाना ना भूलें…

रजिस्ट्रेशन ट्रांसफर का रखें ध्यान: पुरानी कार की डील के बाद सबसे पहले तो ओरिजिनल मालिक से अपने नाम पर रजिस्ट्रेशन ट्रांसफर कराएं। इसके लिए आपको Form-28, Form-29, Form-30 और सेल्स एफिडेविट की जरूरत पड़ेगी।

तैयार रखें ये दस्तावेज: इन फार्म के अलावा आरसी ट्रांसफर करवाने के लिए आपको आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ और कुछ पासपोर्ट साइज फोटो की भी जरूरत पड़ेगी। ट्रांजैक्शन डॉक्यूमेंटेशन में डिलीवरी नोट, इनवॉइस, बुकिंग ऑर्डर फॉर्म, पेमेंट रिसिप्ट आदि भी होते हैं।

इंश्योरेंस का भी कराएं ट्रांसफर: रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) अपने नाम ट्रांसफर कराने के बाद इंश्योरेंस कंपनी से वाहन का इंश्योरेंस अपने नाम पर जरूर करवा लें। अगर आरसी आपके नाम पर ट्रांसफर हो गई है और इंश्योरेंस ट्रांसफर नहीं हुआ है, तो इंश्योरेंस कंपनी से आपको कोई क्लेम नहीं मिलेगा।

PUC सर्टिफिकेट भी है जरूरी: पुरानी कार खरीदने के बाद PUC सर्टिफिकेट जरूर ले लें। PUC सर्टिफिकेट की वेलिडिटी तीन से छ: महीने की होती है। उसके बाद आपको फिर से PUC सर्टिफिकेट को रिन्यू करवाना पड़ेगा। आप किसी भी नजदीकी फ्यूल स्टेशन से PUC सर्टिफिकेट ले सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महिंद्रा थार के दीवाने हुए उमर अब्दुल्ला, कहा- पहाड़ों पर ले जाऊंगा, पिता फारुक अब्दुल्ला को बिठा की टेस्ट ड्राइव
2 मारुति सुजुकी Brezza ने बिखेरा जलवा, 5.5 लाख के पार हुई बिक्री, पेट्रोल वैरिएंट की भी खूब है मांग
3 पुरानी कार खरीदनी है तो कुछ दिनों का करें इंतजार, कम दाम में मिल सकती है बढ़िया गाड़ी, जानिए कैसे
ये पढ़ा क्या?
X