ताज़ा खबर
 

Maruti Suzuki Gypsy का सफर 33 सालों के बाद थमा, इंडियन आर्मी की थी पहली पसंद

भारतीय सेना के लिए ये एसयूवी काफी उपयोगी थी। अपनी खास तकनीक और बनावट के कारण मारुति जिप्सी हर तरह के सड़कों पर आसानी से चलाई जा सकती थी।

Maruti Suzuki Gypsy Discontinued, Maruti Suzuki Gypsy bookings, Maruti Suzuki Gypsy price, Maruti Suzuki Gypsy features, Maruti Suzuki Gypsy indian army, Maruti Suzuki Gypsy detailमारुति सुजुकी जिप्सी को कंपनी ने सन 1985 में पहली बार लांच किया था, ये कंपनी की तीसरी गाड़ी थी। (Photo- Official)

Maruti Suzuki Gypsy Discontinued: देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने अपनी लोकप्रिय ऑफ रोड SUV जिप्सी का प्रोडक्शन आधिकारिक रुप से बंद ​कर दिया है। कंपनी ने इस बारे में अपने सभी डीलरशिप को इमेज के माध्यम से सूचना दी है। कंपनी ने सभी डीलर्स को निर्देश दिए हैं कि वो अब मारुति सुजुकी जिप्सी की कोई भी बुकिंग न लें क्योंकि कंपनी ने अब इस एसयूवी का प्रोडक्शन बंद कर दिया है।

आपको बता दें कि, Maruti Suzuki Gypsy पिछले 33 सालों से भारतीय सड़क पर दौड़ रही थी। कंपनी ने इस एसयूवी को सन 1985 में पहली बार लांच किया था। तब से इस एसयूवी को कंपनी ने कई बार अपडेट किया और इस एसयूवी ने सफलता के बुलंद झंडे गाड़े। इतना ही नहीं ये एसयूवी आम लोगों के साथ साथ भारतीय सेना की भी पहली पंसद रही है।

मारुति सुजुकी को भारतीय सेना की तरफ से सन 1991 में पहली बार जिप्सी के लिए ऑर्डर मिला था। तब से कंपनी भारतीय सेना को तकरीबन 35,000 से ज्यादा जिप्सी एसयूवी की आपूर्ति कर चुकी है। बीते साल इंडियन आर्मी ने मारुति सुजुकी को 4,000 से ज्यादा जिप्सी एसयूवी का ऑर्डर दिया था। अपने सेग्मेंट में इस एसयूवी की मांग अभी भी बनी हुई है।

क्यों बंद हुआ है प्रोडक्शन: दरअसल, कंपनी ने जब इस एसयूवी को लांच किया था तब से लेकर आज तक इसके डिजाइन में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है। इसके अलावा अब सरकार के नए क्रैश टेस्ट मानकों पर ये एसयूवी खरी नहीं उतरती है। ऐसे में यदि इस एसयूवी में बदलाव किया जाएगा तो इसके लिए कंपनी को खासी मेहनत करनी होगी। इसे आप ऐसे समझ सकते हैं कि कंपनी को अपनी जिप्सी को पूरी तरह से बदलना होगा जो कि काफी खर्चीला होगा। इस स्थिति में इस एसयूवी की कीमत में भी बढ़ोत्तरी होगी। यही वजह है कि कंपनी इस प्रोजेक्ट में और निवेश नहीं करना चाहती है।

जब कंपनी ने मारुति जिप्सी को पहली बार लांच किया था उस वक्त कंपनी ने इस एसयूवी में 1.0 लीटर की क्षमता का (MG410) इंजन प्रयोग किया था और इसमें 4 स्पीड गियरबॉक्स लगाया गया था। बाद में इसमें अपडेट करते हुए कंपनी ने इसमें 1.3 लीटर की क्षमता का इंजन प्रयोग किया और इसमें 5 स्पीड गियरबॉक्स को शामिल किया।

सेना की थी पहली पसंद: भारतीय सेना के लिए ये एसयूवी काफी उपयोगी थी। अपनी खास तकनीक और बनावट के कारण मारुति जिप्सी हर तरह के सड़कों पर आसानी से चलाई जा सकती थी। विशेषकर पहाड़ी इलाकों में ये एसयूवी ज्यादा उपयोगी साबित होती थी। खैर समय के साथ सेना ने भी अपने बाड़े में कई अन्य वाहनों को शामिल कर लिया है। अब इंडियन आर्मी के दस्ते में महिंद्रा स्कॉर्पियो, टाटा सफारी जैसे वाहन शामिल हो चुके हैं।

Next Stories
1 Royal Enfield Interceptor 650 में लगाया SUV जैसा टायर, मेकओवर देख हैरान हो जाएंगे
2 Royal Enfield Scrambler से KTM 390 Adventure तक, इस साल आ रही 7 आकर्षक बाइक्स, जानें डिटेल्स
3 Royal Enfield Interceptor 650: ‘स्लिम बुलेट’ के रजिस्‍ट्रेशन में आ रही दिक्‍कत, ऐसे निपटें
ये पढ़ा क्या?
X