ताज़ा खबर
 

Maruti Eco को मॉडिफाई कर घर पर ही बना दी शानदार Ferrai, देखें 11वीं में पढ़नें वाले इस लड़के ने कैसे किया यह कमाल!

बता दें, इस कार को बनाने वाले का नाम कौशल है, उन्होंने 11वीं कक्षा में इस कार को बनाना शुरू किया और 12वीं में आते आते उन्होंने इसकी सड़क पर टेस्टिंग शुरू कर दी थी। इस कार के डिज़ाइन को Lamborghini Veneno और Bugatti Veyron से प्रेरित होकर बनाया गया है।

Maruti Eco Based Sportscar, Maruti Eco turns into Ferrari, Homemade sportscar, See this homemade sports car, Sportscar in india, Modified sports car in india, इस कार को बनाने में पूरे दो साल का समय लगा है।

भारत में स्पोर्ट्सकार को खरीदने का सपना देखते तो बहुत लोग हैं, लेकिन इसे पूरा कुछ ही गिने चुने लोग कर पाते हैं, इन गाड़ियों पर लगने वाले इम्पोर्ट टैक्स के कारण ये गाड़ियां हर किसी के बजट में फिट नहीं हो पाती हैं। अब अगर खरीद नहीं सकते तो क्या हुआ इन्हें बना तो सकते हैं। कहा जाता है कि जिस चीज को पाने की इच्छा हो उसके लिए रास्ते निकल ही आते हैं। इसी का एक उदाहरण आज आपको दिखाते हैं।

दरअसल स्पोर्ट्सकार के कुछ दीवानों ने मारुति की ईको को एक शानदार स्पोर्ट्सकार के रूप में तबदील कर दिया है। जो अब एक बॉक्स जैसे डिजाइन के बजाय जैसी स्पोर्ट्स कार बन गई है। जारी की गई वीडियो को एसएम व्लॉग्स द्वारा बनाया गया है। जिसमें इस कार की पूरी कहानी दिखाई गई है। इस कार को घर पर ही बिना किसी मशीन के यानी हाथों से तैयार किया गया है। जो मारुति ईको पर बेस्ड है।

बता दें, इस कार को बनाने वाले कलाकार का नाम कौशल है, वह बताते हैं कि उन्होंने 11वीं कक्षा में इस कार को बनाना शुरू किया और 12वीं में आते आते उन्होंने इसकी सड़क पर टेस्टिंग शुरू कर दी थी। यह एक कस्टम-चेसिस कार है। इस कार के डिज़ाइन को Lamborghini Veneno और Bugatti Veyron से प्रेरित होकर बनाया गया है। जिसे तैयार करने में पूरे दो साल का समय लगा है।

कौशल ने एक अंग्रेजी वेबसाइट से बात करते हुए बताया कि उनकी भविष्य में भारत की सबसे सस्ती स्पोर्ट्स कार बनाने की योजना है। इस कार को बनाने में करीब 10 से 12 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। जिसमें कार की बॉडी पर कार्बन फाइबर का इस्तेमाल किया था लेकिन वह कुछ जमा नहीं जिसके बाद इसकी बॉडी को मेटल RBS से तैयार किया गया। कार की बात करें तो इसमें आगे की तरफ नग्न प्रोजेक्टर लैंप मिलते हैं और दरवाजे कैंची की तरह खुलते हैं। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि वर्तमान में भारत में सड़कों पर हाथों से बनाई गई गाड़ियां वैध नहीं हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bajaj Pulsar 150 Neon एक बार फिर हुई महंगी, दो सालों में कंपनी ने 25 हजार रुपये तक बढ़ाई कीमत! देखें क्या रहे कारण
2 Hyundai Creta बनी भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली कार, दशकों बाद बेस्ट सेलिंग गाड़ियों की सूची में Maruti को मिला दूसरा स्थान! देखें रिपोर्ट
3 नई Mahindra Scorpio टेस्टिंग के दौरान बोल्ड लुक में आई नजर, नए पेट्रोल इंजन के साथ मिलेंगे कई खास फीचर्स! देखें ​कब होगी भारत में एंट्री