ताज़ा खबर
 

जीएसटी से हो रहे नुकसान की भरपाई के लिए महाराष्ट्र सरकार ने बढ़ाया गाड़ियों और कार का रजिस्ट्रेशन टैक्स

अधिकारी ने कहा कि इस वृद्धि को कल महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। जीएसटी लागू होने के बाद राज्य में चुंगी और स्थानीय निकाय कर समाप्त होने से राजस्व का जो नुकसान हो रहा है उसकी भरपाई के लिये यह कदम उठाया गया है।

July 4, 2017 7:54 PM
महाराष्ट्र सरकार ने बढ़ाया गाड़ियों और कार का रजिस्ट्रेशन टैक्स (फाइल फोटो)

देश में माल एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू होने के बाद महाराष्ट्र सरकार ने निजी दो पहिया और चार पहिया वाहनों पर लगने वाले एक बारगी पंजीकरण कर को दो प्रतिशत बढ़ा दिया है। राज्य के परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि इस वृद्धि को कल महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। जीएसटी लागू होने के बाद राज्य में चुंगी और स्थानीय निकाय कर समाप्त होने से राजस्व का जो नुकसान हो रहा है उसकी भरपाई के लिये यह कदम उठाया गया है। राज्य सरकार ने हालांकि, महंगी आयातित कारों के मामले में कर राशि को अधिकतम 20 लाख रुपये निर्धारित कर दिया है।

इससे पहले कुल कार की कीमत पर 20 प्रतिशत का कर वसूला जाता रहा है। अधिकारी ने इस पर और जानकारी देते हुये कहा, ऐसें कई मामले सामने आये हैं जब महाराष्ट्र के लोगों ने आयातित कार खरीदी लेकिन उसका पंजीकरण दूसरे राज्य में कराया जहां कर की दर कम है।

इससे राज्य को राजस्व का नुकसान होता रहा है। इस नुकसान से बचने के लिये राज्य सरकार ने महंगी आयातित कारों पर अधिकतम कर को 20 लाख रुपये रखने का फैसला किया है, फिर चाहे कार की कीमत कुछ भी हो। अधिकारी ने कहा कि इससे पहले दो पहिया और चार पहिया वाहनों पर एक बारगी पंजीकरण कर 8 से 10 प्रतिशत लगता था जो कि अब बढ़कर 10 से 12 प्रतिशत कर दिया गया है।

पेट्रोल से चलने वाले वाहनों पर पहले 9 से 11 प्रतिशत पंजीकरण कर था यह दर बढ़कर 11 से 13 प्रतिशत हो गई। डीजल की कारों पर इसे 11-13 से बढ़ाकर 13-15 कर दिया गया है। सीएनजी और एलपीजी कारों के लिये इसे 5-7 से बढ़ाकर 7-9 प्रतिशत कर दिया गया है।

Next Stories
1 सचिन तेंदुलकर ने किया मोदी सरकार की इस पहल का समर्थन, कहा- रातोंरात नहीं होगा बदलाव
2 GST का असर: Maruti Suzuki ने अपने गाड़ियों की कीमतों में 3 फीसद तक की कटौती की
3 जानिए GST आने के बाद Mahindra, Tata, Hyundai और Maruti की कौन सी कार्स हो गई हैं सस्ती
ये पढ़ा क्या ?
X