ताज़ा खबर
 

कार में बच्चे को बंद कर शॉपिंग करने गए माता-पिता! 2 घंटे बाद निकला बच्चा, सामने आया हैरान करने वाला Video

कार में जब एसी चलता है तो उस वक्त आमतौर पर लोग विंडो को बंद रखते हैं। ऐसे में कार्बन मोनोऑक्साइड गैस का रिसाव होता है। कार के भीतर ऑक्सीजन का स्तर धीमें धीमें घटने लगता है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

कार में फंसा हुआ बच्चा, खिड़की पर बिलखती हुई मां। (Photo- YouTube Hulchul Tv News)

आज कल की लाइफस्टाइल में हर इंसान इस कदर लापरवाह हो चुका है कि इंसानी जान की भी कोई कीमत नहीं बची है। ऐसा ही एक मामला पंजाब से सामने आया है जहां महज 2 साल के एक मासूम बच्चे को उसी के माता पिता कार में बंद कर के शॉपिंग करने चले गए। तकरीबन 2 घंटो की कड़ी मशक्कत के बाद बच्चे को कार से बाहर निकाला जा सका।

यूट्यूब पर हलचल टीवी नाम के एक चैनल ने ये वीडियो अपलोड किया है। ये मामला पंजाब के नंगल शहर का है। जहां पर 2 साल के मासूम बच्चे को उसी के माता पिता ने चलती कार में छोड़ दिया था। कार में एसी चालू रखने के लिए कार को स्टार्ट कर के बच्चे के माता पिता शॉपिंग के लिए गए थें।

जब काफी देर तक कोई नहीं आया तो ये मासूम बच्च कार की अगली सीट पर खड़ा होकर विंडो को पीटते हुए रोने लगा। इस दौरान आस पास के कुछ लोगों की नजर कार पर पड़ी। लोगों ने गाड़ी के दरवाजे को खोलने की लाख कोशिश की लेकिन दरवाजा सेंट्रल लॉक होने के चलते अंदर से बंद हो गया था। जिसके बाद कुछ स्थानीय लोगों ने बच्चे को बचाने के लिए कार के लॉक को भी तोड़ने की कोशिश की।

इसी बीच बच्चे के माता पिता गाड़ी के पास आ पहुंचे। बच्चे को विंडो के पास बिलखता देख उसकी मां परेशान हो गई लेकिन इसी दौरान इस माता पिता की एक और लापरवाही उजागर हुई। उन लोगों ने कार की चाभी को कार इग्निशन में ही लगा रखा था और उनके पास दरवाजे को खोलने का दूसरा कोई भी उपाया नहीं था। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कार स्टार्ट है और चाभी लगी हुई है।

इस मासूम के जान की फिक्र उसके मां बाप को कितनी थी, इस बात का पता इसी से चलता है कि उन्होनें बच्चे को बचाने के लिए कार के विंडो को भी तोड़ने की जरूरत नहीं समझी और घर से कार की दूसरी चाभी मंगवाने का इंतजार करने लगे। बहरहाल, बच्चा किस्मत वाला था और समय रहते कार की चाभी आ गई जिससे बच्चे को कार से बाहर निकाला जा सका।

कैसे फंसा बच्चा: आज कल ये आम बात हो गई है कि लोग बच्चों को कार में बैठाकर अपने जरुरी काम निपटाने में लग जाते हैं लेकिन वो लोग उस वक्त भूल जाते हैं कि ये कितना खतरनाक हो सकता है। दरअसल, कार के एसी को चालू रखने के लिए इसके इंजन का स्टॉर्ट रहना जरूरी है। ऐसे में कार की चाभी को इग्निशन में ही लगा दिया गया था। आज कल की अत्याधुनिक कारों में जब कार स्टार्ट हो और सभी दरवाजे बंद हो तो कार का सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम सभी विंडो और दरवाजों को ऑटोमेटिक लॉक कर देता है। यही इस मामले में भी हुआ जिससे बच्चा गाड़ी के अंदर फंस गया था।

हो सकता था बड़ा हादसा: कार में जब एसी चलता है उस वक्त विंडो बंद रहता है। ऐसे में कार्बन मोनोऑक्साइड गैस का रिसाव होता है। कार के भीतर ऑक्सीजन का स्तर धीमें धीमें घटने लगता है। इस दौरान यदि कार में बंद व्यक्ति सो रहा होता है तो उसे पता भी नहीं चलता है। थोड़ी देर के बाद शरीर अचेता अवस्था में चला जाता है और शरीर के अंग काम करना बंद कर देते हैं। ऐसी स्थिति में व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App