ताज़ा खबर
 

Hyundai की इलेक्ट्रिक कारों में आग के चलते ग्राहकों ने किया केस, जनरल मोटर्स ने भी वापस लीं 70,000 कारें

नौकरशाह किम ने अपने पड़ोस में हुंडई की एक इलेक्ट्रिक कार में आग लगने के बाद यह मुकदमा किया है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस घटना के चलते 20 परिवारों को अपने घर खाली करने पड़े थे।

electric carsइलेक्ट्रिक कारों में आग लगने के मामले सामने आने के बाद हुंडई ने वापस लीं गाड़ियां

दिग्गज कार कंपनी Hyundai Motor पर ग्राहकों ने इलेक्ट्रिक कारों में आग लगने के चलते मुकदमा ठोक दिया है। इससे पहले जनरल मोटर्स ने भी 70,000 इलेक्ट्रिक कारों को बैट्रियों में खामी के चलते वापस लिया है। हुंडई मोटर्स की कारों में भी बैटरी के चलते ही आग लगने के मामले सामने आए हैं। बता दें कि हुंडई मोटर्स और जनरल मोटर्स की इलेक्ट्रिक कारों में एक ही कंपनी LG Chem Ltd की ही बैटरियां लगी हैं। हुंडई की इलेक्ट्रिक कार का Kona EV के मालिक और साउथ कोरिया के नौकरशाह किम समेत कुल 200 लोगों ने कंपनी के खिलाफ केस किया है। ग्राहकों ने कंपनी से कार को हुए नुकसान की भरपाई करने की मांग की है।

नौकरशाह किम ने अपने पड़ोस में हुंडई की एक इलेक्ट्रिक कार में आग लगने के बाद यह मुकदमा किया है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस घटना के चलते 20 परिवारों को अपने घर खाली करने पड़े थे। कंपनी की इलेक्ट्रिक कारों में इस तरह से आग लगना चिंता का कारण बन रहा है। खासतौर पर Hyundai Motor को शानदार कारों के लिए जाना जाता है और ग्लोबल मार्केट में उसकी बड़ी हिस्सेदारी है। ऐसे में उसकी कारों में आग लगना चिंता का विषय है। बता दें कि दुनिया भर में स्वच्छ परिवहन के विकल्प के तौर पर इलेक्ट्रिक कारों का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। इसी के चलते कंपनियां भी लगातार इलेक्ट्रिक कारों की तकनीक में सुधार कर रही हैं और नए-नए मॉडल मार्केट में उतार रही हैं।

लेकिन इस तरह की घटनाओं के चलते इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की इंडस्ट्री को ही करारा झटका लगा है। जानकारों का कहना है कि ये घटनाएं बैटरी की ज्यादा हीटींग के चलते हुई हैं। इन घटनाओं से Hyundai को वित्तीय नुकसान होने के साथ ही उसके रेप्युटेशन पर भी असर पड़ा है। यही नहीं कारों की मांग पर भी असर पड़ सकता है। धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ रहे इलेक्ट्रिक कारों के लिए यह घटनाएं चिंताजनक हैं। रॉयटर्स से बातचीत में इन घटनाओं को लेकर एक दक्षिण कोरियाई बैटरी एक्सपर्ट ने कहा, ‘एक असुरक्षित बैटरी पूरी तरह से बम की तरह है।’

बता दें कि Hyundai Motor से पहले जनरल मोटर्स और फोर्ड जैसी कंपनियों को भी इस तरह के संकट का सामना करना पड़ा है। शुक्रवार को ही जनरल मोटर्स ने अपनी 68,677 इलेक्ट्रिक कारों को वापस लेने का फैसला लिया है। गाड़ियों में आग लगने की 5 घटनाओं के सामने आने और दो लोगों के घायल होने के बाद कंपनी ने यह फैसला लिया है। इसके बाद अब हुंडई ने दुनिया भर में अपनी 74000 कारों को वापस लेने का फैसला लिया है। दक्षिण कोरिया, कनाडा और यूरोप में बीते दो सालों में आग लगने की 16 घटनाएं सामने आने के बाद कंपनी इस नतीजे पर पहुंची है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सिर्फ ₹3,555 की किस्त में मिल रही है Tata Tiago कार, लुक से लेकर इंटीरियर तक में है शानदार
2 कम बजट में मिल रही Bajaj Discover और Platina जैसी बाइक्स! कीमत 8,475 रुपये से शुरू
3 भारत में नई मिनी-एसयूवी पेश करने वाली है Renault, ब्रेजा और Tata Nexon को देगी कड़ी टक्कर
ये पढ़ा क्या ?
X