ताज़ा खबर
 

आ गई उड़ने वाली कार, जानें क्या है कीमत, 6.5 लाख रुपए में करें बुकिंग

यह फ्लाइंग कार 910 किलो वजन लेकर उड़ सकती है। इसकी बैगेज क्षमता 20 किलो है और फ्यूल टैंक की क्षमता 100 लीटर की है। यह कार न तो जेट इंधन से चलेगी और न ही यह ऑटोमैटिक है।

कंपनी ने दावा किया है कि, वह पहली कार की डिलीवरी 2019 में करेगी तब तक इस फ्लाइंग कार को सुरक्षा प्रमाणपत्र मिल जायेगा।

जेनेवा मोटर शो में वाहन निर्माता कंपनियां एक से बढ़कर एक गाड़ियां पेश कीं। इसी क्रम में डच वाहन निर्माता कंपनी पाल-वी ने दुनिया की पहली फ्लाइंग कार पेश कर दी है। खास बात ये है कि, कंपनी ने इस फ्लाइंग कार के लिए अब प्री-ऑर्डर भी लेने शुरू कर दिए हैं। कंपनी ने इस फ्लाइंग कार लिबर्टी के लिए बुकिंग शुरू कर दी है। इसे 6,50,000 रुपए में बुक किया जा सकता है। पाल-वी लिबर्टी कार में दो लोग सफर कर सकते है। यह फ्लाइंग कार 910 किलो वजन लेकर उड़ सकती है। इसकी बैगेज क्षमता 20 किलो है और फ्यूल टैंक की क्षमता 100 लीटर की है। यह कार न तो जेट इंधन से चलेगी और न ही यह ऑटोमैटिक है। इस कार को आपको मैन्युअली ही उड़ाना पड़ेगा। इस कार के बारे में बताया जा रहा है कि यह कार बहुत तेजी से काम करती है। यह कार महज 5 से 10 मिनट में फ्लाइंग मोड में आ जाती है। कंपनी इस कार को दो वेरिएंट्स— स्पोर्ट और पायोनियर में उपलब्ध कराएगी।

HOT DEALS
  • Micromax Dual 4 E4816 Grey
    ₹ 11978 MRP ₹ 19999 -40%
    ₹1198 Cashback
  • Vivo V5s 64 GB Matte Black
    ₹ 13099 MRP ₹ 18990 -31%
    ₹1310 Cashback

कंपनी ने दावा किया है कि, वह पहली कार की डिलीवरी 2019 में करेगी तब तक इस फ्लाइंग कार को सुरक्षा प्रमाणपत्र मिल जायेगा। कार की कीमत की कीमत का खुलासा बाजार में उतारे जाने बाद किया जाएगा। इस फ्लाइंग कार में दो रोटैक्स एयरक्राफ्ट इंजन लगाए गए हैं जो इसे उड़ाते हैं। इस कार की मैक्सिमम स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटा है। वहीं हवा में यह कार 180 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ सकती है। कार को 0 से अपनी टॉप स्पीड तक पहुंचने में 9 सेकंड का समय लगता है।

कार फ्लाइट मोड में लिबर्टी 330 मीटर की दूरी में टेकऑफ कर लेती है, वहीं लैडिंग के लिए इसे 30 मीटर तक सड़क पर चलने की जरूरत पड़ती है। कार की हवा में सबसे कम स्पीड 50 किमी/घंटा है। इस कार को कुछ ऐसे डिजाइन किया गया है कि यूरोप और अमेरिका में लागू सड़क और हवाई यात्रा के मापदंडों पर यह खरी उतरती है। कंपनी को इस कार को बनाने में 10 साल का वक्त लगा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App