ताज़ा खबर
 

दिल्ली की सड़कों पर पुरानी कार चलाना पड़ेगा महंगा, भरना पड़ेगा 10 हजार रुपये का चालान

अगर आप दिल्ली के निवासी हैं और आपके पास है 10 पुरानी डीजल या 15 साल पुरानी पेट्रोल कार तो ये खबर सिर्फ आपके लिए ही है।

दिल्ली की सड़कों पर पुरानी कार चलाना अब महंगा पड़ने वाला है। (फोटो- YOUTUBE)

देश की राजधानी दिल्ली की सड़कों पर अब पुरानी गाड़ियां चलाना महंगा पड़ने वाला है। अगर आपके पास भी है 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल कार तो ये खबर सिर्फ आपके लिए ही है।

दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग की तरफ से एक चेतावनी जारी की गई है कि अगर आपके पास 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल कार है तो उसको जल्द से जल्द स्क्रैप करवा लें।

ऐसा न करने पर दिल्ली सरकार की तरफ से पुरानी कार के मालिकों पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। दिल्ली सरकार ने पुरानी कारों पर ये सख्त रुख अपनाया है जिसके पहले चरण में चेतावनी जारी की गई है।

दिल्ली की सड़कों पर यदि कोई 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल कार चलती हुई पाई जाएगी तो उसपर न सिर्फ 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा बल्कि उनको एक शपथ पत्र भरने के बाद ही वो कार वापस मिल सकेगी जिसमें गाड़ी का मालिक को ये आश्वासन देना होगा कि ये कार अब दोबारा सड़क पर नहीं चलेगी और जल्द ही स्क्रैप करवा दी जाएगी।

दिल्ली सरकार ने दिल्ली की सड़कों से पुरानी गाड़ियों को हटाने के लिए चार एजेंसियों को ऑथराइज किया है जो इन पुरानी कारों को स्कैप करेंगी। वर्तमान में ये स्थिति है कि पुरानी कार के मालिक अपनी गाड़ियों को स्क्रैप नहीं करवा रहे।

इन एजेंसियों से मिले आंकड़ों के मुताबिक इन चारों एजेंसियों में हर महीने 12 हजार गाड़ियों को स्क्रैप किया जा सकता है लेकिन वर्तमान में प्रतिमाह सिर्फ 600 कारें ही स्क्रैप होने के लिए आ रही हैं। पुरानी गाड़ियों को स्क्रैप करने में दिल्ली के लोगों की उदासीनता देखते हुए दिल्ली सरकार को ये  चेतावनी जारी करनी पड़ी है।

(ये भी पढ़ेंभारत की टॉप 5 CNG कार जो दिलाएंगी पेट्रोल के बढ़ते दाम से आजादी)

दिल्ली परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक अभी इन 10 पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल कारों के खिलाफ कोई विशेष अभियान चलाने की कोई योजना नहीं है।

लेकिन वाहन मालिकों को इस मामले में एक नोटिस जरूर भेजा जा रहा है ताकि वे जल्द से जल्द दिल्ली सरकार द्वारा तय किए गए सेंटर पर जाकर अपनी पुरानी कार को स्क्रैप करवा सकें।

परिवहन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक विभाग ने साल 2018 में पुरानी कारों को खत्म करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए गए थे लेकिन दो वर्ष बाद 31 मई 2021 तक सिर्फ 2879 पुरानी गाड़ियों को ही स्क्रैप किया गया है।

Next Stories
1 Activa से लेकर CB350 तक इन 6 टू व्हीलर में आई इस खराबी के बाद Honda ने किया रिकॉल
2 TVS iQube खरीदने पर होगा फायदा, कंपनी ने घटाए 11,250 रुपये, जानिए नई कीमत और फीचर्स की पूरी डिटेल
3 मात्र 27 हजार में खरीदें 90kmpl माइलेज वाली Bajaj CT100, मिलेगी 1 साल की वारंटी
ये पढ़ा क्या?
X