ताज़ा खबर
 

ऑटो सेक्टर में आई मंदी पर SBI का बड़ा कदम! कार डीलर्स को दी यह खास सहूलियत

Auto Sector Crisis: देश के ऑटोमोबाइल सेक्टर में आई मंदी के इस दौर से निपटने के लिए भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने वाहन डीलर्स को राहत देने की पहल की है।

ऑटो सेक्टर में अब तक लाखों लोगों को नौकरी से निकाल दिया गया है।

देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने मांग में कमी का सामना कर रहे वाहन डीलरों की कर्ज की कर्ज चुकाने की अवधि बढ़ा दी है। SBI के प्रबंध निदेशक (खुदरा एवं डिजिटल बैकिंग) पीके गुप्ता ने रविवार को संवाददाताओं से कहा, ‘हम वाहन डीलरों से लगातार बात कर रहे हैं और दिक्कत की स्थिति में बैंक कई मामलों में ऋण भुगतान के लिए समय बढ़ा रहा है।’

उन्होंने कहा कि, आम तौर पर ऋण भुगतान की अवधि 60 दिन की होती है लेकिन बैंक ने इसे बढ़ाकर 75 दिन और कुछ मामलों में 90 दिन कर दिया है। गुप्ता ने कहा, ‘बैंक के तौर पर हमारा ध्यान केवल वित्तीय पक्ष पर रहता है। हमारा मुख्य ध्यान कार खरीदारों को सस्ती दर पर कर्ज उपलब्ध कराना है। हम निर्माता से कार खरीदने वाले डीलर को भी ऋण उपलब्ध कराते हैं। पर जहां तक मांग में वृद्धि लाने का पहलू है, इस दिशा में केवल सरकार हस्तक्षेप कर सकती है।’

गुप्ता ने कहा कि हाल के महीनों में विभिन्न वजहों से वाहनों के लिए बैंकों से ऋण लिये जाने में कमी आई है। इस बीच, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के चेयरमैन रजनीश कुमार ने रविवार को कहा कि कर्ज की मांग कमजोर बनी हुई है और अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि हालाकि अर्थव्यवस्था में कर्ज मांग की कमी है जबकि कर्ज की आपूर्ति को लेकर कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पास कर्ज देने को धन पर्याप्त रूप से उपलब्ध है। कुमार ने कहा, ‘अर्थव्यवस्था में कर्ज की मांग नरम है। अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने की जरूरत है।’

उन्होंने कहा, ‘कर्ज आपूर्ति को लेकर कोई बाधा नहीं है। कमोबेश सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पास पर्याप्त पूंजी है और ब्याज दर भी कम है।’ एसबीआई प्रमुख ने उम्मीद जतायी कि मानसून का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

त्योहारी सीजन से उम्मीद: देश के ऑटोमोबाइल सेक्टर को अब आगामी त्योहारी सिजन से उम्मीदे हैं। बीते महीनों में वाहनों की बिक्री सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। बावजूद इसके बाजार में नए वाहनों को लांच किया जा रहा है। इसके अलावा सरकार द्वारा निर्देशित नए मानकों के अनुसार वाहनों में सेफ्टी और इंजन अपडेट भी किया जा रहा है। वाहन निर्माताओं को उम्मीद है कि त्योहारी सीजन में वाहनों की मांग में बढ़ोत्तरी होगी जिससे हालात में कुछ सुधार आएगा।

इनपुट: भाषा

Next Stories
1 Jawa के बाद अब Yezdi की हो रही है वापसी! सोशल मीडिया पेज और वेबसाइट हुआ लाइव, ये बाइक्स होंगी लांच
2 हार्दिक पांड्या ने खरीदी लग्जरी स्पोर्ट कार Lamborghini Huracan,महज 3 सेकेंड में 100 Kmph की स्पीड! कीमत 3 करोड़ रुपये
3 Maruti Ciaz से लेकर Civic तक, इन सिडान कारों पर मिल रहा है 2 लाख रुपये का बंपर डिस्काउंट
ये पढ़ा क्या?
X