ताज़ा खबर
 

हर साल होते हैं 5 लाख एक्सिडेन्ट, 1.5 लाख लोग गवाते हैं जान! जानिए मोदी सरकार के मंत्री का आंकड़ा

उन्होंने कहा कि देश में जीडीपी का नुकसान दो प्रतिशत है जबकी सड़क पर मारे गए लोग 62 प्रतिशत हैं। जिनमें ज्यादात्तर लोग 18-35 आयु वर्ग के बीच के हैं।

देश में हर साल पांच लाख दुर्घटनाएं होती हैं, जिसमें लगभग 1.5 लाख लोग मारे जाते हैं।

देश में बढ़ रही दुर्घटनाओं को रोकने के लिए केंद्र सरकार अपनी पूरी कोशिश पर है, सरकार ने इसके लिए नए मोटर व्हील एक्ट को लागू कर लोगों में नियमों के प्रति जागरूकता बढ़ाने और उनका पालन करने के लिए सख्ताई भी दिखाई है। लेकिन हालात में ​कोई सुधार देखने को नहीं मिला।

हाल ही में देश भर मे सड़क सुरक्षा सप्ताह समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी हिस्सा लेने नागपुर पहुंचे। वहां उन्होंने बताया कि “देश में हर साल पांच लाख दुर्घटनाएं होती हैं, जिसमें लगभग 1.5 लाख लोग मारे जाते हैं।

उन्होंने कहा कि देश में जीडीपी का नुकसान दो प्रतिशत है जबकी सड़क पर मारे गए लोग 62 प्रतिशत हैं। जिनमें ज्यादात्तर लोग 18-35 आयु वर्ग के बीच के हैं। नितिन गडकरी ने अफसोस जताते हुए कहा कि उनका मंत्रालय कई उपाय करने के बावजूद इन संख्याओं को कम नहीं कर पा रहा है।

हालांकि उन्होंने दुर्घटनाओं की संख्या में 29 प्रतिशत और मृत्यु दर में 30 प्रतिशत की कमी लाने के लिए तमिलनाडु की सरकार की प्राशंसा भी की। जिसमें उन्होंने नए यातायात नियम, पुलिस और आरटीओ के साथ​ साथ गैर सरकारी संगठनों द्वारा एकजुट प्रयास को दुर्घटनाओं के कम होने का बड़ा कारण बताया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 महज 11,000 रुपये की शुरुआती कीमत में खरीदें Bajaj Pulsar और Hero Splendor जैसी बाइक्स! देती हैं 80kmpl तक का माइलेज
2 Hyundai BS6 Santro भारत में लॉन्च, पहले के मुकाबले 30,000 रुपये बढ़ी कीमत, देखें क्या हुए बदलाव
3 Hydrofoiler XE-1: लांच हो गई पानी पर दौड़ने वाली इलेक्ट्रिक बाइक! टॉप स्पीड 20 Kmph और कीमत है इतनी
ये पढ़ा क्या?
X