ताज़ा खबर
 

Budget 2019: पीयूष गोयल बोले- जोश से देश बदल रहा है, “एक पांव रखता हूं, हजार राहें फूट पड़ती हैं”

Budget 2019 Highlights in Hindi: गोयल ने कहा, "ये सिर्फ अंतरिम बजट नहीं है। यह देश की विकास यात्रा का माध्यम है। ये जो देश बदल रहा है, देशवासियों के जोश से बदल रहा है।"

Union Budget 2019-20 India: बजट भाषण पढ़ते हुए पीयूष गोयल। (फोटो सोर्स-LSTV)

Union Budget 2019-20 India: प्रभारी केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अपने पहले बजट से समाज के सभी वर्गों को खुश करने की कोशिश की है। करीब पौने दो घंटे के अंतरिम बजट भाषण में उन्होंने मजदूरों, किसानों, युवाओं, महिलाओं और मध्यमवर्गीय नौकरी पेशा लोगों को बड़ी राहत देने का एलान किया है। वित्त मंत्री ने बजट भाषण के आखिरी हिस्से में देश में बदलाव की बयार की भी चर्चा की। उन्होंने कहा, “ये सिर्फ अंतरिम बजट नहीं है। यह देश की विकास यात्रा का माध्यम है। ये जो देश बदल रहा है, देशवासियों के जोश से बदल रहा है। उसका श्रेय और उसका यश भारत की जनता को जाता है। हमारी सरकार के कार्यकाल में विकास जन आंदोलन बन गया है।”

गोयल ने अपने बजट भाषण में हिन्दी और मराठी के एक विख्यात कवि की दो पंक्तियां भी पढ़ीं। उन्होंने कहा, “एक पांव रखता हूं, हजार राहें फूट पड़ती हैं।” गोयल ने कहा, “हमने नए भारत के निर्माण के लिए इतने नए सशक्त प्रभावी कदम उठाए हैं कि आज भारत हर क्षेत्र में दुनिया के हर स्तर पर अनंत संभावनाओं के देश के रूप में देखा जाता है।” उन्होंने कहा,  “हम देशवासियों के बलबूते पर भारत को दुनिया का एक अग्रणी देश बनाएंगे। हमने सबके साथ मिलकर अभी केवल नींव रखी है अब भारत की जनता के साथ मिलकर इस देश की भव्य इमारत बनाना चाहते हैं। इसके लिए हमने एक निर्णायक नेतृत्व दिया, जिसकी नीयत साफ है, नीति स्पष्ट है और निष्ठा अटल है।”

बजट 2019 LIVE UPDATES

बता दें कि अंतरिम बजट में नौकरी पेशा और मजदूरों पर विशेष जोर दिया गया है। बजट में ग्रैच्यूटी भुगतान की सीमा डबल करने का एलान किया गया है। अब ग्रैच्यूटी की सीमा 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख कर दी गई है। इसके अलावा बजट में 21 हजार तक की सैलरी वालों को मिनिमम बोनस 7000 रुपये देने का एलान किया गया है। वित्त मंत्री ने कहा है कि जिन लोगों का ईपीएफ कटता है, उन्हें 6 लाख रुपये का बीमा मुफ्त दिया जाएगा। 15 हजार मजदूरों के लिए नई पेंशन ‘प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन’ का एलान किया है। योजना के मुताबिक 60 साल की उम्र के बाद इन मजदूरों को तीन हजार रुपये का पेंशन दिया जाएगा। आयकर की सीमा भी बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App