ताज़ा खबर
 

BSNL Salary Delay: खत्म हुआ वेतन संकट, कर्मचारियों को आज मिलेगी सैलरी

BSNL Employees Salary News: बीएसएनएल अपने सभी कर्मचारियों के फरवरी माह के वेतन का भुगतान शुक्रवार को करेगी। कंपनी के चेयरमैन एवं मुख्य प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

Author March 15, 2019 12:50 PM
कर्मचारियों के फरवरी माह के वेतन का भुगतान करेगी BSNL. तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

BSNL Employees Salary News: राज्य के स्वामित्व वाली दूरसंचार फर्म बीएसएनएल बुरे दौर से गुजर रही है। वित्तीय बाधाओं के कारण अपने लगभग 1.76 लाख कर्मचारियों को फरवरी के वेतन का भुगतान नहीं कर पाने के कारण बीएसएनएल पिछले कुछ दिनों से सुर्ख़ियों में बना हुआ है। ऐसे में अब बीएसएनएल के कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर आई है। कंपनी घोषणा कि है कि अपने सभी कर्मचारियों के फरवरी माह के वेतन का भुगतान शुक्रवार को करेगी। कंपनी के चेयरमैन एवं मुख्य प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘बीएसएनएल अपने सभी कर्मचारियों के वेतन का भुगतान शुक्रवार को करेगी। हम दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा के आभारी हैं, जिन्होंने समय पर हस्तक्षेप कर यह सुनिश्चित किया कि कर्मचारियों के वेतन का भुगतान जल्द किया जा सके।’’ उन्होंने बताया कि आमतौर पर मार्च में बीएसएनएल की राजस्व प्राप्ति ऊंची रहती है और आंतरिक संसाधनों का प्रवाह बढ़ा है। श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि मार्च में कुल प्राप्ति 2,700 करोड़ रुपये रहेगी। इसमें से 850 करोड़ रुपये की राशि का इस्तेमाल कर्मचारियों के वेतन भुगतान के लिए किया जाएगा।’’ श्रीवास्तव ने आगे कहा कि रिलायंस जियो के अलावा बीएसएनएल एकमात्र दूरसंचार कंपनी है जिसके ग्राहकों की संख्या में इजाफा हो रहा है जिससे उसका राजस्व बढ़ रहा है।

प्रबंध निर्देशक ने कहा कि दूरसंचार मंत्री ने इस मामले में खुद पहल करते हुए निगरानी की और संकट का निपटान किया। ‘‘मैं बीएसएनएल के कर्मचारियों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने यह सुनिश्चित किया कि सेवाएं जारी रहीं।’’ उन्होंने कहा कि दूरसंचार विभाग के सहयोग से आगामी महीनों में वेतन वितरण में कोई विलंब नहीं होगा। बता दें बीएसएनएल का घाटा हर साल बढ़ता जा रहा है। इसने वित्त वर्ष 18 के लिए लगभग 8,000 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया, जबकि वित्त वर्ष 17 में यह 4,786 करोड़ रुपये था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App