ताज़ा खबर
 

अब BSNL के ग्राहक नया सिम लिए बिना ही यूज कर सकेंगे रिलायंस Jio की 4जी सर्विस, जानिए कैसे

रिलायंस जियो और बीएसएनएल ने 2जी और 4जी सेवाओं के लिए अपने सर्किलों के अंदर रोमिंग का समझौता किया है।

Author September 13, 2016 9:17 PM
रिलायंंस जियो को टक्कर देने के लिए बीएसएनएल ने उतारा अनलिमिटेड कॉलिंग पैक।

रिलायंस जियो और सरकारी क्षेत्र की भारत संचार निगम लि. (बीएसएनएल) ने 2जी और 4जी सेवाओं के लिए अपने सर्किलों के अंदर रोमिंग का समझौता किया है। इस समझौते के लागू होने पर बीएसएनएल के ग्राहक रोमिंग में रिलायंस जियो की 4जी सेवाएं हासिल कर सकेंगे तथा रिलायंस जियो के ग्राहक फोन कॉल के लिए बीएसएनएल के 2जी नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकेंगे। दोनों कंपनियों के बीच इंट्रा-सर्किल रोमिंग एग्रीमेंट हुआ है।

बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने बयान में कहा कि इस समझौते से दोनों कंपनियों को फायदा होगा और उन्हें दोनों के नेटवर्क का बाधारहित लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि बीएसएनएल अपने नेटवर्क को मजबूत कर रही है जिसमें 3 महीने लग सकते हैं। उसके बाद 4जी हैंडसेट रखने वाले बीएसएनएल के ग्राहक जियो की 4जी सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे। इसके लिए दोनों कंपनियां दर अभी तय करने वाली हैं।

रिलायंस जियो के प्रबंध निदेशक संजय मश्रुवाला ने कहा कि उनकी कंपनी अपने स्तर पर बिल्कुल एक नए दौर का नेटवर्क स्थापित कर रही है साथ ही इस तरह के समझौतों से हमारे ग्राहकों को रोमिंग के समय बराबर संपर्क में बने रहने की सुविधा होगी। बीएसएनएल की ग्रामीण क्षेत्रों में मजबूत उपस्थिति है और पूरे देश में ग्राहक संख्या के हिसाब से यह पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी है। देश भर में इसे 1,14,000 के करीब नेटवर्क साइट हैं।

Read Also: BSNL अनलिमिटेड ब्रॉडबैंड प्लान: 249 नहीं खर्च करने पड़ेंगे 3000 रुपए, यहां देखिए पूरा ब्यौरा

दोनों कंपनियों का कहना है कि हमारा फोकस है कि नेटवर्क कैपिबबिलिटी को बढ़ाना है। साथ ही हमारा लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा कस्टमर्स तक पहुंच बढ़ाना है। इस करार से दोनों ही कंपनियों को एक दूसरे का सपोर्ट मिलेगा, साथ ही कस्टमर्स को बेहतर अनुभव मिलेगा। बता दें कि इससे पहले सरकारी टेलिकॉम कंपनी बीएसएनएल ने वोडाफोन इंडिया के साथ 2जी इंट्रा सर्किल रोमिंग पैक्‍ट किया है। इसके तहत, दोनों कंपनियां अपने 2जी कस्‍टमर्स को रोमिंग के दौरान एक-दूसरे के नेटवर्क से कनेक्टिविटी दे सकेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App