ताज़ा खबर
 

Reliance AGM 2019: खुदरा ईंधन नेटवर्क की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचेंगे मुकेश अंबानी, ब्रिटेन की बीपी देगी 7 हजार करोड़ रुपये

अंबानी ने आम सभा में कहा, ‘‘ एक नयी महत्वपूर्ण पहल के तहत बीपी ने कंपनी के पेट्रोल खुदरा कारोबार में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। बीपी को यह हिस्सेदारी बेचने से रिलायंस को 7,000 करोड़ रुपये मिलेंगे।’

Author नई दिल्ली | Updated: August 12, 2019 12:50 PM
mukesh ambaniमुकेश अंबानी। (फाइल फोटो)

ब्रिटेन की प्रमुख तेल एवं गैस कंपनी बीपी रिलायंस इंडस्ट्रीज के ईंधन खुदरा नेटवर्क कारोबार में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए 7,000 करोड़ रुपये का भुगतान करेगी। रिलायंस समूह के प्रमुख मुकेश अंबानी ने कंपनी की 42वीं वार्षिक आमसभा के मौके पर सोमवार को यह घोषणा की। पिछले हफ्ते दोनों कंपनियों ने देशभर में नए पेट्रोल पंप खोलने और विमानन कंपनियों के लिए विमान ईंधन की खुदरा बिक्री करने के उद्देश्य से एक नये संयुक्त उपक्रम की घोषणा की थी। अभी देशभर में रिलायंस के 1,400 आम पेट्रोल पंप और 31 विमान ईंधन पंप हैं। यह सभी बीपी के साथ बनने वाले नए संयुक्त उपक्रम को स्थानांतरित कर दिए जाएंगे। इस संयुक्त उपक्रम में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी बीपी की और बाकी 51 प्रतिशत हिस्सेदारी रिलायंस की होगी। कंपनी का लक्ष्य अगले पांच साल में 5,500 पेट्रोल पंप खोलने का है।

अंबानी ने आम सभा में कहा, ‘‘ एक नयी महत्वपूर्ण पहल के तहत बीपी ने कंपनी के पेट्रोल खुदरा कारोबार में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। बीपी को यह हिस्सेदारी बेचने से रिलायंस को 7,000 करोड़ रुपये मिलेंगे।’ पिछले दिनों खबर आई थी कि रिलायंस इंडस्ट्रीज और ब्रिटेन की बीपी ईंधन के खुदरा कारोबार के लिये संयुक्त उद्यम बनाने पर सहमति जतायी। यह संयुक्त उद्यम 5,500 पेट्रोल पंप स्थापित करने और विमान ईंधन एटीएफ की बिक्री करेगा। दोनों कंपनियों ने इस पर सहमति जतायी है।

एक बयान में दोनों कंपनियों ने कहा था, ‘‘हम नया संयुक्त उद्यम बनाने पर सहमत हुए हैं जिसमें देश भर में खुदरा बिक्री के लिये पेट्रोल पंप और विमान ईंधन का कारोबार शामिल होगा।’’ संयुक्त उद्यम रिलायंस के मौजूदा करीब 1,400 पेट्रोल पंपों के नेटवर्क और विमान ईंधन कारोबार को आगे बढ़ाएगा।
बयान में कहा गया है, ‘‘संयुक्त उद्यम में रिलायंस इंडस्ट्रीज का विमान ईंधन कारोबार भी शामिल होगा। फिलहाल कंपनी देश के 30 हवाईअड्डों पर काम कर रही है…।’’ नये संयुक्त उद्यम में रिलायंस की 51 प्रतिशत और बीपी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।  बयान के अनुसार इस बारे में अंतिम समझौता इसी साल होगा और यह नियामकीय तथा अन्य औपचारिक मंजूरी पर निर्भर है। सौदा 2020 की पहली छमाही में पूरा होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 माली संकट से जूझ रहे DHFL ने बैंकों से मांगे 15,000 करोड़ रुपये
2 माली संकट से जूझ रही BSNL का प्लान, 3000 करोड़ रुपये की करेगी वसूली
3 Reliance AGM कल, Jio Phone 3, Jio GigaFiber समेत कई धमाकेदार सर्विसेज होंगी लॉन्च
यह पढ़ा क्या?
X