ताज़ा खबर
 

धनकुबेरों में होड़! Zee में शेयर खरीदने के लिए मुकेश अंबानी और सुनील मित्तल में होगी टक्कर!

मुकेश अंबानी की जियो इन्फोकॉम और सुनील भारती की भारती एयरटेल लिमिटेड के बीच ZEEL में हिस्सेदारी खरीदने के लिए मुकाबला हो सकता है. जी अपने चैनल की हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रहा है।

दोनों कंपनियों ने इस बारे में अभी कोई टिप्पणी नहीं की है। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

अरबपति मुकेश अंबानी और सुनील भारती मित्तल के बीच भारतीय टेलीविजन नेटवर्क में हिस्सेदारी खरीदने के लिए टक्कर होने का अनुमान लगाया जा रहा है। इस मामले के जानकार लोगों का कहना है कि दोनों अरबपतियों में दुनिया के दूसरे सबसे बड़े मोबाइल मार्केट में कंटेंट को लेकर मुकाबला है।

मित्तल की भारती एयरटेल लिमिटेड जी एंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज में हिस्सेदारी खरीदने संबंध में आवश्यक काम शुरू कर दिया है। ईटी की खबर के अनुसार मामले को जानकारों में से एक व्यक्ति ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि उम्मीद है कि कंपनी इस बारे में जल्द ही औपचारिक प्रस्ताव लेकर आएगी।
जानकारों की मानें तो अंबानी की रिलायंस जियो इन्फोकॉम भी जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बोली लगाने पर विचार कर रही है। इस बारे में अभी प्रारंभिक स्तर पर ही विचार विमर्श हो रहा है। अभी इस बारे में किसी भी तरह के लेनदेन की जानकारी नहीं है। इस तरह के अनुमानों के बारे में जी के प्रतिनिधि ने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

हालांकि, कंपनी की तरफ से संभावित साझेदरों से ‘लगातार बातचीत’ हो रही है। इस बारे में पूछे जाने पर रिलायंस जियो इन्फोकॉम और भारती की तरफ से ई-मेल का तुरंत कोई जवाब नहीं दिया गया। जिस तरह सरकार इस साल 5जी एयरवेव्ज नीलामी की तैयारी कर रही है उसे देखते हुए इस सौदे में सफल होने वाले बोलीदाता को वीडियो सेवा के राजस्व की लड़ाई में मदद मिल सकती है।

एटीएंडटी इंक, वोडाफोन ग्रुप पीएलसी औरर केडीडीआई कॉर्प समेत दुनिया कुछ अन्य सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनियां सब्सक्राइबर्स की संख्या को देखते हुए अपनी कमाई को बढ़ाने के लिए फिल्म और टेलीविजन प्रोडक्शन और केबल टीवी असेट्स खरीद रही हैं। सुभाष चंद्रा की कंपनी जी, भारत में कंटेंट की मांग के साथ ही नेटफ्लिक्स, अमेजन की प्राइम सेवा और सैकड़ों स्थानीय चैनलों से मिल रही कड़ी टक्कर से मुकाबला करने के लिए रणनीतिक निवेशक की तलाश कर रही है।

जी के 173 देश में 78 चैनल के साथ 1.3 अरब दर्शक हैं। जी के पास 4800 फिल्मों के टाइटल्स हैं। इससे पहले सोनी कॉर्प और कॉमकास्ट कॉर्प ने जी में हिस्सेदारी खरीदने को लेकर रुचि दिखाई थी। जी अपने टेलीविजन नेटवर्क की आधी हिस्सेदारी बेचना चाहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App