कोरोना की लहर में इस अरबपति की कंपनी ने पकड़ी रॉकेट की रफ्तार, निवेशकों को बड़ा फायदा

बीते वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही यानी सितंबर से दिसंबर के बीच सन फार्मा को जबरदस्त मुनाफा हुआ है। सन फार्मा का मुनाफा दोगुना होकर 1,852.48 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

sun pharma, dilip sanghaviसन फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज के मालिक दिलीप संघवी हैं (Photo-Indian Express )

कोरोन की लहर के बीच भारतीय शेयर बाजार में निवेशकों को बड़ा नुकसान हुआ है। हालांकि, इस दौरान कुछ ऐसी कंपनियां भी हैं, जिनमें निवेशकों ने दांव लगाया है तो उन्हें मुनाफा भी हो रहा है।

इन्हीं में से एक कंपनी सनफार्मा है। देश के प्रमुख दवा कंपनी सन फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज के शेयर रिकॉर्ड हाई लेवल पर पहुंच गए हैं। सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन यानी 20 अप्रैल को कंपनी का शेयर भाव 660 रुपये के स्तर को छु लिया। यह बीते 52 सप्ताह का हाई लेवल है। कारोबार के अंत में शेयर का भाव 645 रुपये रहा। वहीं, मार्केट कैपिटल की बात करें तो 1 लाख 55 हजार करोड़ रुपये के स्तर को छु लिया है।

मुनाफे में है कंपनीः बीते वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही यानी सितंबर से दिसंबर के बीच सन फार्मा को जबरदस्त मुनाफा हुआ है। सन फार्मा का मुनाफा दोगुना होकर 1,852 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 913.52 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। तिमाही के दौरान उसकी परिचालन से कुल आय बढ़कर 8,836.78 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। एक साल पहले समान अवधि में यह 8,154 करोड़ रुपये रही थी। (ये पढ़ें-अडानी संभाल रहे हैं अंबानी का कारोबार)

कौन है कंपनी का मालिकः सन फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज के मालिक दिलीप संघवी हैं। दिलीप संघवी के दौलत की बात करें तो फिलहाल 11 बिलियन डॉलर से ज्यादा है। फोर्ब्स के मुताबिक वह देश के टॉप 10 अमीरों में शामिल हैं। आपको बता दें कि दिलीप संघवी ने साल 2015 में दौलत के मामले में मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ दिया था। वह, एक फार्मा डिस्ट्रीब्यूटर के बेटे हैं। उन्होंने पिता से 200 डॉलर के उधार लेकर फार्मा सेक्टर में एंट्री ली।

शेयर बाजार का हालः बीएसई का तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 243.62 अंक यानी 0.51 प्रतिशत की गिरावट के साथ 47,705.80 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सेंसेक्स 529 अंक तक मजबूत होकर दिन के उच्चतम स्तर तक चला गया था। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी कारोबार के दौरान 167 अंक से अधिक मजबूत होकर 14,500 के स्तर को छू गया था। लेकिन बाद में बढ़त बरकरार नहीं रह सकी और अंत में यह 63.05 अंक यानी 0.44 प्रतिशत की गिरावट के साथ 14,296.40 अंक पर बंद हुआ। (कर्ज देती थी अनिल अंबानी की ये दो कंपनियां, फिर कारोबार समेटने की आ गई नौबत)

सेंसेक्स के जिन शेयरों में गिरावट दर्ज की गयी, उनमें अल्ट्रा टेक सीमेंट, एचसीएल टेक, एचडीएफसी, टेक महिंद्रा, एचडीएफसी बैंक और एचयूएल शामिल हैं। इनमें 4.7 प्रतिशत तक की गिरावट आयी। दूसरी तरफ लाभ में रहने वाले प्रमुख शेयरो में बजाज फिनसर्व, डा. रेड्डीज, बजाज फाइनेंस, बजाज ऑटो और मारुति शामिल हैं।

Next Stories
1 Term Insurance: टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदने की है प्लानिंग, ना करें ये 10 गलतियां
2 7th Pay Commission: कोरोना काल में बदल चुके हैं 3 नियम, इन कर्मचारियों को होगा फायदा
3 जब टेस्ला के सीईओ एलन मस्क को आनंद महिंद्रा ने दी थी चुनौती, जानिए पूरा मामला
आज का राशिफल
X