ताज़ा खबर
 

आधी संपत्ति दान करने बावजूद भी दुनिया के पहले खरबपति बन सकते हैं बिल गेट्स: रिपोर्ट

एक नई रिसर्च में यह दावा किया गया है कि माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स आगामी 25 सालों के भीतर दुनिया के पहले खरबपति बन सकते हैं।

Author January 25, 2017 1:38 PM
माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स (एपी फाइल फोटो)

एक नई रिसर्च में यह दावा किया गया है कि माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स आगामी 25 सालों के भीतर दुनिया के पहले खरबपति बन सकते हैं। ऑक्सफेम इंटरनेशनल नाम की एक रिसर्च फर्म ने अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया है। रिसर्च के मुताबिक बिल गेट्स 86 साल की उम्र में पहुंचने तक वह दुनिया के पहले ट्रिलियनेर बन सकते हैं। रिसर्च रिपोर्ट बिल गेट्स की संपत्ति का आकलन करके तैयार की गई है। रिपोर्ट का दावा है कि गेट्स की संपत्ति 2009 से ही सालाना साल 11 फीसद की दर से बढ़ रही है। अगर यह आंकड़ा ऐसा ही बना रहा तो वह जल्द ही दुनिया के पहले खरबपति इंसान बन सकते हैं।

वहीं रिपोर्ट में यह जानकारी भी दी गई है कि गेट्स ने साल 2006 में जब माइक्रोसॉफ्ट को छोड़ा था, तब उनकी कुल संपत्ति 50 अरब अमेरिकी डॉलर थी और साल 2016 आते-आते उनकी कुल संपत्ति बढ़कर 75 अरब डॉलर तक पहुंच गई। वहीं बिल गेट्स अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा अपनी गेट्स फाउंडेशन के जरिए कई सामाजिक कार्यों में लगाते हैं, बावजूद इसके भी उनकी संपत्ति में इजाफा हो रहा है और 11 फीसद की दर अगर बनी रही तो वह दुनिया के पहले खरबपति बन सकते हैं। गेट्स उन चुनिंदा अमीर लोगों में से एक है, जिन्होंने अपनी आधी से ज्यादा संपत्ति दुनिया को दी है।

वहीं विश्लेषण के मुताबिक ऑक्सफेम के शोधकर्ताओं ने यहा माना है कि साल 2009 के बाद से हर साल 11 प्रतिशत की जिस दर से वह विकास कर रहे हैं, उसे देखते हुए गेट्स की वर्तमान संपत्ति करीब 84 अरब डॉलर (फोर्ब्स के मुताबिक) से ज्यादा है। फोर्ब्स की मार्ज 2016 की बिलेनियर लिस्ट के मुताबिक दुनिया के 8 अरबपतियों की सूची में वॉरेन बफे, बिल गेट्स, इंडिटेक्स के संस्थापक अमांसिओ ऑर्टेगा, कार्लोस स्लिम, एमाजॉन के चीफ सीईओ जेफ बेजोस, फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग, न्यूयॉर्क के पूर्व सिटी मेयर माइकल ब्लूमबर्ग और ओरेकल के लैरी एलिसन को जगह मिली है।

अज्ञात स्त्रोतों से मिले चंदे को राजनीतिक पार्टियों ने छिपाया; कांग्रेस को 83 प्रतिशत तो बीजेपी को 65 प्रतिशत चंदा अज्ञात स्त्रोतों से मिला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App