ताज़ा खबर
 

बीकानेरवाला खोलेगा 20 नए बिक्री केन्द्र, 65 करोड़ रुपए का होगा निवेश

बीकानेरवाला चालू वित्त वर्ष में अपने बिक्री केन्द्रों की संख्या बढ़ाकर 150 से अधिक करेगी वहीं हैदराबाद में एक नया संयंत्र भी लगाएगी।

Author नई दिल्ली | August 4, 2016 4:58 PM
Bikanervala, Bikanervala Shop, Bikanervala News, Bikanervala foods, Bikanervala latest news बीकानेरवाला फूड्स प्राइवेट लि.

आलू भूजिया, चिप्स, डिब्बाबंद मिठाई जैसे उत्पाद बनाने वाली बीकानेरवाला फूड्स प्राइवेट लि. ने बाजार में अपनी स्थिति मजबूत बनाने के लिए आक्रमक योजना बनायी है। इसके तहत कंपनी चालू वित्त वर्ष में अपने बिक्री केन्द्रों की संख्या बढ़ाकर 150 से अधिक करेगी वहीं हैदराबाद में एक नया संयंत्र भी लगाएगी। कंपनी चालू वित्त वर्ष में 65 करोड़ रुपए निवेश करेगी। यह निवेश नए स्टोर खोलने, संयंत्र लगाने और अन्य विकास कार्यों में किया जाएगा। फिलहाल कंपनी के तीन संयंत्र हैं जो दिल्ली, राई (हरियाणा) और ग्रेटर नोएडा (उत्तर प्रदेश) में है। बीकानेरवाला फूड्स प्राइवेट लि. के निदेशक मनीष अग्रवाल ने कहा, ‘हमने 2016-17 में 20 नये स्टोर खोलने का लक्ष्य रखा है। इसमें से एक स्टोर हम देहरादून में खोल चुके हैं। साथ ही हम हैदराबाद में एक नया संयंत्र लगा रहे हैं।’

कंपनी चालू वित्त वर्ष में अपने कर्मचारियों की संख्या में भी 10 से 15 प्रतिशत वृद्धि करेगी। फिलहाल उसके कर्मचारियों की संख्या 2,000 से अधिक है। उन्होंने कहा कि कंपनी पंजाब, दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, राजस्थान, उत्तराखंड और मुंबई में नये बिक्री केन्द्र खोलेगी। ये स्टोर कंपनी के अपने भी होंगे और फ्रेंचाइजी के रूप में भी खोले जाएंगे। कारोबार के विस्तार पर अग्रवाल ने कहा कि हमने अगले तीन साल में केवल बीकानो खंड में 1,000 करोड़ रुपए के कारोबार का लक्ष्य रखा है जो 2015-16 में 550 करोड़ रुपए रहा। पूरे समूह का कारोबार अगले तीन साल में 1350 करोड़ रुपए हो जाने का लक्ष्य है जो 2015-16 में 800 करोड़ रुपए था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जीएसटी दर 18-20 प्रतिशत भी रही तो मुद्रास्फीति पर नहीं होगा असर: वित्त मंत्रालय
2 भारतीय मूल के चार व्यक्ति अमेरिका के शीर्ष संपत्ति सलाहकारों में शामिल: फोर्ब्स
3 जीएसटी आर्थिक वृद्धि के लिए सकारात्मक, अन्य सुधारों की प्रगति रहेगी धीमी
ये पढ़ा क्या?
X