scorecardresearch

अनिल अंबानी को लगा बड़ा झटका, शेयरधारकों ने ठुकराया संपत्ति बेचने का प्रस्ताव

Anil Ambani: एजीएम में दिए गए नोटिस में कंपनी ने बताया था कि कर्ज और देनदारी को कम करने के लिए संपत्तियां बेचने का फैसला किया गया है।

Anil Ambani | Business News| Anil Ambani
रिलायंस एडीएजी ग्रुप के मुखिया अनिल अंबानी (एक्सप्रेस फोटो : प्रशांत नाडकर)

व्यापारिक मोर्चों पर लगातार मुश्किलें झेल रहे रिलायंस एडीएजी ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी को उनकी कंपनी के शेयरधारकों ने बड़ा झटका दिया है। जानकारी के मुताबिक, 2 जून को रिलायंस पावर की एजीएम (Annual General Meeting) में शेयरधारकों ने कंपनी की संपत्तियों को बेचने के लिए लाए गए विशेष प्रस्ताव के खिलाफ वोटिंग की है। बता दें, किसी भी कंपनी की एजीएम में स्पेशल रेजोल्यूशन को पास करने के लिए कम से कम 75 फीसदी शेयरधारकों की मंजूरी लेनी होती है।

कंपनी की ओर से शेयर बाजार को दी गई सूचना के अनुसार, एजीएम में 72.02 फीसदी शेयरधारकों ने प्रस्ताव के पक्ष में वोटिंग की थी जबकि 27.97 फिर भी शेयरधारकों ने उसके खिलाफ वोट किया था।

कर्ज कम करना चाहते थे: एजीएम में दिए गए नोटिस में बताया था कि कर्ज और देनदारी को कम करने के लिए कंपनी ने अपनी संपत्तियां बेचने का फैसला किया है। इसके साथ नोटिस में कहा गया कि कंपनी को इसके लिए शेयरधारकों की सहमति जरूरी है जिसके लिए एजीएम में विशेष प्रस्ताव लाया गया है।

बता दें, नियमों के मुताबिक किसी भी एक वित्त वर्ष में कोई भी कंपनी अपनी संपत्तियों में से 20 फीसदी से अधिक हिस्सा एजीएम में विशेष प्रस्ताव लाए बिना नहीं बेच सकती है और न ही पट्टे पर दे सकती है।

रिलायंस पावर को वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में 555 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ था जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान कंपनी ने 72 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा कमाया था। वित्त वर्ष 2021-22 चौथी तिमाही में कंपनी की आय बढ़कर 1878 करोड़ रुपए हो गई थी, जो पिछले वित्त साल करीब 1690 करोड़ रुपए थी। हालांकि इस दौरान कंपनी का खर्चा बढ़ कर 2525 करोड़ पर पहुंच गया। कंपनी को पूरे वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 605 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है जबकि पिछले साल कंपनी को 228 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X