BHIM App and RuPay card offer: now user get 20% cashback upto rs. 100 on every payment, GST council meeting decision - BHIM App और RuPay से पेमेंट पर 20% तक का कैशबैक, सरकार ने लिया फैसला - Jansatta
ताज़ा खबर
 

BHIM App और RuPay से पेमेंट पर 20% तक का कैशबैक, सरकार ने लिया फैसला

BHIM App and RuPay: भीम ऐप का पूरा नाम भारत इंटरफेस फॉर मनी है, जिसका नाम डॉक्टर भीमराव अंबेडर के नाम पर रखा गया है। भीम ऐप एंड्रॉयड और आईओएस दोनों ही यूजर्स के लिए उपलब्ध है।

यदि यह पायलट योजना अर्थव्यवस्था को औपचारिक बनाने में सफल साबित होती है, तो अन्य उपयोगकर्ताओं को भी प्रोत्साहित किया जा सकता है।

सरकार डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए लगातार कोशिश कर रही है। BHIM UPI और RuPay कार्ड का इस्तेमाल करने वालों के लिए अच्छी खबर है। दरअसल अब सरकार BHIM ऐप और रुपे कार्ड से पैसे ट्रांसफर करने वालों के लिए कैशबैक का ऑफर लेकर आई है। जीएसटी की मीटिंग के बाद अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बताया जीएसटी परिषद ने एक पायलट आधार पर योजना शुरू करने का निर्णय लिया है जिसके अंतर्गत BHIM UPI और रुपे का उपयोग करके बहुत से ग्रामीणों को अधिकतम 100 रुपये तक कैशबैक मिलेगा।

इस प्लान को पहले डिजिटल लेनदेन के लिए प्रोत्साहन योजना तैयार करने के लिए मंत्रियों के समूह (जीओएम) को भेजा गया था। मंत्रिपरिषद समूह (जीओएम) की मंजूरी के बाद, भीम ऐप और रुपे के माध्यम से नकद वापसी के माध्यम से डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहित करने के प्रस्ताव को अंतिम मंजूरी के लिए परिषद के सामने रखा गया था। जीओएम द्वारा अनुमोदित प्रस्ताव के अनुसार, रुपे कार्ड या BHIM UPI का उपयोग कर भुगतान करने वाले ग्राहक कुल जीएसटी राशि का 20 प्रतिशत कैशबैक प्राप्त करेंगे, अधिकतम 100 रुपये तक का होगा।

पीयूष गोयल ने कहा कि अब यह राज्यों पर निर्भर करेगा कि कैसे आगे बढ़ाने की योजना बना रहे हैं। यदि यह पायलट योजना अर्थव्यवस्था को औपचारिक बनाने में सफल साबित होती है, तो अन्य उपयोगकर्ताओं को भी प्रोत्साहित किया जा सकता है। हालांकि परिषद ने पायलट आधार पर योजना को मंजूरी दी, कुछ राज्य इसके पक्ष में नहीं थे क्योंकि राजस्व पर बोझ पड़ने की संभावना है।

क्या है भीम ऐप?: भीम ऐप का पूरा नाम भारत इंटरफेस फॉर मनी है, जिसका नाम डॉक्टर भीमराव अंबेडर के नाम पर रखा गया है। भीम ऐप एंड्रॉयड और आईओएस दोनों ही यूजर्स के लिए उपलब्ध है। इसे नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने बनाया है, जो यूपीआई पर काम करता है। यूपीआई IMPS इंफ्रास्ट्रक्चर के ऊपर काम करता है और इसके जरिए एक बैंक से दूसरे बैंक तक स्मार्टफोन से ही पैसों को ट्रांसफर किया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App